बेरीनाग : यहां मिली पाताल भुवनेश्वर जैसी एक और गुफा, बनी हैं देवी-देवताओं की आकृतियां

पिथौरागढ़ जिले के पर्यटन स्थल बेरीनाग के दूरस्थ दशौली गांव के जंगल में अद्भुत गुफा का पता चला है. गुफा में जिले की ही पाताल भुवनेश्वर गुफा में बनी देवी-देवताओं की आकृतियों जैसी ही आकृतियां बनी हुई हैं.

इस बार नवरात्र में गुफा देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग पहुंचे. गांव के लोगों का कहना है कि यदि गुफा तक पहुंचने के लिए रास्ता बना दिया जाए तो क्षेत्र को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जा सकता है.

कुछ दिन पहले जंगल गए लोगों को गुफा का पता चला. जब कुछ युवाओं ने गुफा के अंदर जाकर देखा तो वहां बनी विभिन्न प्रकार की आकृतियों को देखकर उत्साहित हो गए. उन्होंने इसकी जानकारी गांव के अन्य लोगों को दी. स्थानीय निवासी दीक्षित पाठक का कहना है कि यह गुफा पाताल भुवनेश्वर की तरह ही है.

उसमें कई प्रकार की आकृतियां प्राकृतिक रूप से उभरी हैं. इन आकृतियों पर पानी की बूंदें टपकती रहती हैं. गांव के कैलाश चंद्र पाठक, कौस्तुभानंद पाठक आदि ने बताया कि गुफा के दर्शन के लिए इस बार नवरात्र में कई लोग पहुंचे थे. उन्होंने सरकार और पुरातत्व विभाग से गुफा के आसपास सुविधाओं का विस्तार करने की मांग की.

पुरातत्व विभाग के प्रभारी डॉ. सीएस चौहान ने कहा कि पहाड़ पर प्राकृतिक रूप से गुफाएं मिलती रहती हैं. दशौली में मिली गुफा का निरीक्षण किया जाएगा. यदि उसमें विकास की संभावना होगी तो उस दिशा में काम किया जाएगा. जल्द ही एक टीम दशौली गांव का दौरा करेगी. अध्ययन और निरीक्षण के बाद ही इस बारे में कुछ कहा जा सकेगा.