उत्तरकाशी : शिवलिंग पर्वत पर फंसे पोलैंड के एक पर्वतारोही की मौत, दूसरा लापता

उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में शिवलिंग पर्वत चोटी जाते समय 5 हजार फीट से ज्यादा की ऊंचाई पर फंसे पोलैंड के दो पर्वतारोहियों में से एक की मौत हो गई है, जबकि दूसरा लापता है.

उत्तरकाशी के पुलिस अधीक्षक ददन पाल ने बताया, ‘पर्वतारोही लुकाज जान चिरजानोस्की गुरुवार शाम पहुंचे बचाव दल के पास पहुंचने के लिए नीचे आ रहा था लेकिन अचानक लड़खड़ाकर गहरी खाई में गिर गया.’
पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘ऐसा लगता है कि बीमार होने और कमजोरी के कारण वह चलते-चलते गिर गया जिससे उसकी मौत हो गई.’ उन्होंने बताया कि चिरजानोस्की के साथ ही पर्वतारोहण पर निकले उनके हमवतन ग्रेजेगोर्ज माइकल कुकुरोस्की का फिलहाल पता नहीं चल पाया है. कुकुरोस्की भी बीमार हैं.

पाल ने कहा कि लुकाज का शव तपोवन आधार शिविर तक ले आया गया है और लापता पर्वतारोही की तलाश जारी है. उन्होंने बताया कि लुकाज का शव उसके परिवार तक पहुंचाने के लिए अधिकारी पोलैंड दूतावास के संपर्क में हैं.

इस बीच, पोलैंड के ही एक अन्य लापता और बीमार पर्वतारोही का पता लगाने के लिए एसडीआरएफ, नेहरू पर्वतारोहण संस्थान (निम), गढ़वाल स्काउटस और सेना का एक संयुक्त दल की तलाशी अभियान जारी है.

इंडियन माउंटेनियरिंग फाउंडेशन के तत्वाधान में हुए इस अभियान में पोलैंड के पांच पर्वतारोही गोमुख से ऊपर शिवलिंग चोटी के लिए 22 सितंबर को गंगोत्री से रवाना हुए थे. इस दौरान आठ अक्टूबर को दल के दो सदस्य बीमार हो गए.

किसी तरह पर्वतारोहियों ने इसकी सूचना पोलैंड दूतावास को दी, जिन्होंने इस मामले में केंद्र सरकार से मदद मांगी. केंद्र ने 12 अक्टूबर को स्थानीय प्रशासन को फंसे बीमार पर्वतारोहियों की मदद करने को कहा, जिसके बाद बचाव अभियान शुरू किया गया.