किसी एक की नहीं बल्कि पूरी तरह से टीम की जीत है, हां अश्विन अंतिम 11 से अलग हैं : कोहली

कप्तान विराट कोहली ने न्यूजीलैंड पर 3-0 से मिली सीरीज की जीत को पूरी तरह से टीम का प्रयास करार किया. क्योंकि हालिया दिनों में भारत की सबसे रोमांचक सीरीज जीत में से एक में कई खिलाड़ियों ने अहम योगदान दिया.

कोहली इस बात से खुश थे कि पिछले कुछ मौकों के विपरीत ‘जब टीम अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं कर पायी’ थी, गेंदबाजों ने अलग प्रदर्शन किया और बहुत अच्छी तरह से साथ निभाया.

कोहली ने कहा, ‘निश्चित रूप से, हम इससे बेहतर की उम्मीद नहीं कर सकते थे. जब भी हम दबाव में थे, गेंदबाजों ने खूबसूरती से साथ निभाया. कोई ना कोई हमेशा तैयार रहता.’

उन्होंने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘सीरीज में यह पूरी तरह से टीम की जीत है. इसमें सिर्फ एक व्यक्ति की जीत नहीं थी. आप अश्विन को एक तरफ रख सकते हैं, उसका जिक्र अंतिम एकादश में नहीं किया जाना चाहिए, वह अनमोल है. पहले टेस्ट में जडेजा ने बल्ले से कमाल दिखाया, साहा ने दूसरे टेस्ट में और रोहित ने कुछ अहम पारियां खेलीं.’

कोहली ने हसंते हुए कहा कि अश्विन लगता है ‘अपने मैन ऑफ द सीरीज पुरस्कार गिनना भी भूल गया है.’ लेकिन टीम उसकी उपलब्धियों की गिनती करती रहती है.

उन्होंने कहा, ‘हम प्रत्येक सीरीज के बाद उसके ‘मैन ऑफ द सीरीज’ पुरस्कार के बारे में चर्चा करते हैं. छठे नंबर.. सातवें नंबर… श्रेय उसे जाता है, मैं उसे शुभकामनाएं देता हूं.’

कोहली ने टीम को शीर्ष पर पहुंचाने के लिए अपने साथी खिलाड़ियों के लगातार अच्छे प्रदर्शन को श्रेय दिया. उन्होंने कहा, ‘व्यक्तिगत प्रदर्शन महत्वपूर्ण है लेकिन आखिर में वह प्रदर्शन मायने रखता है जो टीम के काम आए. यदि हम विश्व में सर्वश्रेष्ठ टीम बन पाए तो इसकी वजह टीम के सदस्यों के बीच अच्छा तालमेल और मुश्किल परिस्थितियों में किसी का बेहतर प्रदर्शन करना रहा है. इससे हम शीर्ष टीम बने.’

कोहली ने कहा, ‘मैं सभी खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ का आभार व्यक्त करता हूं जो सभी हमारी टीम का हिस्सा हैं, क्योंकि मुझे लगता है कि सभी पक्षों के योगदान से ही इस तरह की उपलब्धि हासिल की जा सकती है. टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंचने के लिए काफी कड़ी मेहनत की जरूरत होती है.’

गावस्कर ने कहा कि इस तरह की उपलब्धि को सालों तक याद रखा जाएगा. उन्होंने कहा, ‘मैं हमेशा यह मानता हूं कि टेस्ट क्रिकेट आपकी हर तरह से परीक्षा लेता है. इसमें शीर्ष पर काबिज होना बहुत बड़ी उपलब्धि है. यह भिन्न परिस्थितियों में भी अच्छा प्रदर्शन करने का परिणाम है.’

आईसीसी मुख्य कार्यकारी डेविड रिचडर्सन ने भी भारत को पाकिस्तान से कुछ सप्ताह के अंदर ही टेस्ट नंबर एक स्थान हासिल करने के लिए बधाई दी. उन्होंने कहा, ‘मैं भारत को इस शानदार प्रदर्शन के लिए बधाई देता हूं, जिससे वह आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप गदा हासिल करने में सफल रहा. पिछले तीन महीनों में तीन बार नंबर एक रैंकिंग में बदलाव हुआ है, जिससे टेस्ट क्रिकेट में कड़ी प्रतिस्पर्धा का पता चलता है. यह खिलाड़ियों और प्रशंसकों के लिए अच्छा है.’

भारत के अभी 115 अंक हैं, लेकिन चोटी की चार टीमों के बीच केवल सात अंक का अंतर है. दूसरे स्थान पर काबिज पाकिस्तान (111 अंक), तीसरे नंबर की टीम ऑस्ट्रेलिया (108) और चौथे नंबर की इंग्लैंड (108) सभी टीमें आगामी टेस्ट श्रृंखलाओं में खेलेंगी.