मंडल मुख्यालय नहीं बनेगा देहरादून रेलवे स्टेशन, मुरादाबाद से ही होगा संचालित

अस्थायी राजधानी देहरादून का दून रेलवे स्टेशन राज्य गठन के 16 साल के बाद भी उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद मंडल से संचालित हो रहा है.

रेलवे कर्मचारी काफी समय से देहरादून रेलवे स्टेशन को मंडल बनाने की मांग कर रहे हैं. लेकिन पीएमओ से जानकारी मिली है देहरादून रेलवे स्टेशन को मंडल नहीं बनाया जा सकता है. इसके पीछे कई वजहें बताई जा रही हैं.

खासतौर से रेलवे स्टेशन के आसपास जगह कम है, जिसकी वजह से ट्रेन के लिए नए यार्ड नहीं बनाए जा सकते हैं. दूसरी तरफ रेलवे स्टेशन देहरादून अस्थायी राजधानी का अंतिम स्टेशन है. इसी तरह से कई बुनियादी दिक्कतें हैं.

वही कर्मचारियों का कहना है कि जब मंडल नहीं बन सकता है तो देहरादून को सब डिवीजन बना दिया जाए. इससे रेलवे स्टेशन का विकास होगा और साथ ही यात्रियों और कर्मचारियों को बेहतर सुविधाएं मिलेंगी.

कर्मचारियों का कहना है कि इसके लिए राज्य सरकार को केन्द्र सरकार से सिफारिश करनी चाहिए. यानी अब देहरादून रेलवे स्टेशन को मंडल बनाने की कवायद पर ब्रेक लगा चुका है. अब नए सिर से उप-मंडल बनाने की प्रक्रिया शुरू होगी.