आतंकी नहीं चाहते कि कश्मीरी युवक आत्मनिर्भर बनें : उमर अब्दुल्ला

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने सोमवार को उद्यमिता विकास संस्थान (इडीआई) को निशाना बनाने के लिए आतंकवादियों पर निशाना साधते हुए कहा कि आतंकवादी नहीं चाहते हैं कि युवा कश्मीरी लड़के और लड़कियां अपने पांव पर खड़े हो सकें.

उमर ने ट्वीट किया, ‘सभी ईडीआई हमेशा कश्मीरी लड़के और लड़कियों को अपने पांव पर खड़े होने और सरकारी नौकरी पाने के लिए प्रशिक्षित करती हैं. आतंकवादियों को ऐसा पसंद नहीं है.’ आतंकवादियों ने रविवार को पंपोर में इस साल दूसरी बार ईडीआई इमारत को निशाना बनाया. पहली बार इस इमारत पर फरवरी में हमला हुआ था.

उमर ने कहा है, ‘इस साल दूसरी बार संस्थान पर हमला करने को लेकर आश्चर्य नहीं हुआ. वे चाहते हैं कि युवा कश्मीरी अधीन बने रहें और आत्मनिर्भर न बन सकें. माना जा रहा है कि दो या तीन आतंकवादी सोमवार तड़के उद्यमिता विकास संस्थान (ईडीआई) की इमारत में घुस गए.

आतंकवादियों ने इस साल फरवरी में भी ईडीआई की इमारत को निशाना बनाया था. एक अधिकारी सहित दो सैनिक, संस्थान के एक कर्मचारी और तीन आतंकवादी 48 घंटे चले अभियान के दौरान मारे गए थे.