पंजाब विरोधी सोच से ग्रस्त हैं दिल्ली के सीएम केजरीवाल : प्रकाश सिंह बादल

आम आदमी पार्टी को खोखले नारों और झूठे वादों की पार्टी बताते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने सोमवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को चेतावनी दी कि राज्य के और देश के विकास में ‘आप’ का कोई एक योगदान गिना दें.

पांचवीं बार राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में कार्यभार संभाल रहे बादल ने कहा, ‘यह बात ऑन रिकॉर्ड है कि आप केवल अवसरवादियों और दलबदलुओं का गुट है, जिन्होंने सत्ता हासिल करने के लिए एक के बाद एक पार्टी छोड़ दी, इसलिए इन लोगों से राज्य और इसकी जनता के लिए किसी अच्छे काम की उम्मीद नहीं की जा सकती.’

मुक्तसर के लांबी विधानसभा क्षेत्र में ‘संगत दर्शन’ कार्यक्रम से इतर संवाददाताओं से बातचीत में मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि केजरीवाल को पंजाब की खेती और ग्रामीण जीवन की बुनियादी बातें भी नहीं पता हैं. उन्होंने कहा कि आप का एकमात्र मकसद पंजाब में राजनीतिक सत्ता हासिल करना है, जहां अगले साल की शुरुआत में चुनाव होने हैं.

बादल ने कहा, ‘केजरीवाल पंजाब विरोधी सोच से ग्रस्त हैं और सतलुज-यमुना लिंक नहर के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट में उनकी सरकार के रुख से यह बात झलकती है. सुप्रीम कोर्ट में दिल्ली की आप सरकार के हलफनामे में इस मुद्दे पर पंजाब के रुख को असंवैधानिक और राष्ट्रविरोधी कहा गया है.’

उन्होंने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री हरियाणा से ताल्लुक रखते हैं इसलिए वह स्वाभाविक रूप से उस राज्य के हितों की सुरक्षा के प्रति झुकाव रखते हैं और अपने खुद के राज्य (हरियाणा) के लिए पंजाब का पानी हथियाना चाहते हैं.

उन्होंने कहा कि अकाली दल-बीजेपी की सरकार की गरीब समर्थक योजनाओं में आटा-दाल, पेंशन, शगुन, भगत पूरण सिंह सेहत बीमा योजना और माई भागो विद्या योजना शामिल हैं.

बादल ने रविवार को केजरीवाल के इस दावे को खारिज कर दिया था कि पंजाब में अकाली दल और कांग्रेस अगले साल राज्य विधानसभा चुनावों के लिए सांठगांठ कर रहे हैं.