रामनगर : गर्दन पर चाकू रखकर नाबालिग से बलात्कार, पुलिस बरत रही लापरवाही

नैनिताल जिले के रामनगर में बाइक सवार दो बदमाशों ने चाकू की नोंक पर नाबालिग लड़की को अगवा कर लिया और उसके साथ बलात्कार की घिनौनी हरकत को अंजाम दिया. यही नहीं उन्होंने घटना की जानकारी किसी को देने पर जान से मारने धमकी भी दी. यह घटना करीब 10 दिन पहले की है.

पीड़ित किशोरी व उसके परिजनों ने पुलिस पर कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाते हुए मामले की जांच कर रही महिला दरोगा पर भी धमकाने का आरोप लगाया है. न्याय दिलाने की मांग को लेकर पीड़ित के परिजन महिला आयोग उपाध्यक्ष अमिता लोहनी के पास पहुंची.

पीड़ित के परिजनों ने महिला आयोग की उपाध्यक्ष अमिता लोहनी को पत्र सौंपते हुए कहा कि 29 सितंबर को कुछ गुंडे उनकी नाबालिग बेटी को अगवा कर ले गए. उन्होंने चिट्ठी में लिखा है कि उनकी बेटी पीरुमदारा दवा लेने के लिए जा रही थी. जब उनकी बेटी घर नहीं लौटी तो उन्होंने खोजबीन की.

कहीं नहीं मिलने पर पीरुमदारा चौकी में रिपोर्ट भी दर्ज कराई. उनका कहना था कि शक के आधार पर उसने अपने पड़ोसी युवक पर बेटी का अपहरण करने का अंदेशा जाहिर किया था. उन्होंने कहा कि जब दूसरे दिन उनकी बेटी घर लौटी तो उसने पूरी घटना परिजनों को बताई.

पीड़ित ने बताया कि दो लोग उसे बाइक पर उठाकर ले गए थे और हरीयावाला काशीपुर में एक कमरे में बंद कर उसकी गर्दन पर चाकू रखकर उसके साथ बलात्कार किया. यही नहीं घटना की जानकारी किसी को देने पर जान से मारने की धमकी भी दी.

मामले में पुलिस ने पड़ोसी राजेंद्र, राजू, आकाश व मीना के खिलाफ धारा 363, 366, 504, 506 आईपीसी के तहत मुकदमा दर्ज किया था. पीड़ित किशोरी और उसके परिजनों का आरोप है कि घटना के 10 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस अभी तक किसी आरोपी को नहीं पकड़ पाई है. उनका आरोप है कि मामले की जांच कर रही महिला उपनिरीक्षक भी उन्हें धमका रही है.

मामले में महिला आयोग उपाध्यक्ष अमिता लोहनी ने बताया कि यह मामला बेहद गंभीर है. उन्होंने पुलिस द्वारा मामले में ढिलाई बरतने को भी गंभीरता से लेते हुए कहा कि इस मामले में एसएसपी को भी अवगत कराने के साथ ही आयोग द्वारा भी लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.