ट्रेकिंग वर्ष के रूप में मनाया जाएगा अगला साल : हरीश रावत | कैलाश खेर के भजनों ने किया मंत्रमुग्ध

दुर्गा अष्टमी के पावन पर्व पर रविवार को केदारनाथ धाम में उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने प्रसिद्ध गायक कैलाश खेर द्वारा भगवान शिव की स्तुति में दी गई संगीतमय प्रस्तुति के दौरान गाए भजनों में भाग लिया.

इस मौके पर उन्होंने केदारनाथ पर आधारित टेलीफिल्म का विमोचन भी किया. इससे पहले, ‘हिटो केदार ट्रेकिंग अभियान’ का समापन करते हुए मुख्यमंत्री हरीश रावत ने घोषणा की कि अगला वर्ष ‘ट्रेकिंग वर्ष’ के नाम से मनाया जाएगा.

उन्होंने कहा कि उत्तराखंड की पहचान पूरे विश्व में ‘ट्रेकिंग पैराडाइज’ के रूप में होगी, जिसके लिए हरसंभव कोशिश की जा रही है.

रावत ने कहा कि राज्य में साहसिक पर्यटन की प्रबल संभावनाओं को देखते हुए विभाग को राज्य में 80 ट्रेकिंग रूट विकसित करने को कहा गया है. उन्होंने कहा कि हिमालयी सौंदर्य का बड़ा भाग अब भी अनछुआ है. मुख्यमंत्री ने कहा कि पर्यटन को स्थानीय युवाओं के रोजगार से जोड़ा जाना आवश्यक है.

हरदा ने कहा कि साल 2013 में आयी प्राकृतिक आपदा के बाद केदारनाथ सहित सभी चार धामों में सुविधाएं पहले से बेहतर कर दी गई हैं. इस साल रिकॉर्ड संख्या में श्रद्धालु आए हैं. अभी तक चारधाम तथा हेमकुंड साहिब में 14 लाख से ज्यादा श्रद्धालु आ चुके हैं. अगले साल इस संख्या को दोगुना करने का लक्ष्य रखा जाएगा.

मुख्यमंत्री के निर्देश पर उत्तराखंड माउंटेनियर्स एंड ट्रेकर्स एसोसिएशन, उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद और गढ़वाल मंडल विकास निगम द्वारा संयुक्त रूप से दो अक्टूबर को ‘हिटो केदार ट्रेकिंग अभियान’ का शुभारंभ किया गया था, जिसमें केदारनाथ जाने वाले नौ रूटों पर ट्रेकिंग की गई.