मैथ्यू तूफान से हैती में भारी तबाही, 900 लोगों की मौत

दशक के सबसे शक्तिशाली तूफान मैथ्यू से हैती में 900 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई और हजारों लोग बेघर हो गए हैं. यह तूफान शनिवार सुबह दक्षिणपूर्व अमेरिका के जॉर्जिया व दक्षिण कैरोलिना की ओर बढ़ा.

कुछ खबरों के मुताबिक, हैती में मृतकों की संख्या हजारों में पहुंच सकती है. सहायता कार्य से जुड़े कुछ अधिकारियों ने कहा है कि हैती के कुछ इलाकों का 90 प्रतिशत हिस्सा ध्वस्त हो गया है.

सरकार और संयुक्त राष्ट्र के अधिकारियों का अनुमान है कि 3.5 लाख लोगों को सहायता की जरूरत है.

तूफान से उत्तरी फ्लोरिडा में बाढ़ और तेज हवाएं चलने से काफी नुकसान पहुंचा, छह लोगों की मौत हो गई है. दस लाख लोगों के घरों में बिजली नहीं है.

रिपोर्ट के मुताबिक, 105 मील प्रति घंटे की रफ्तार से मैथ्यू तूफान के शनिवार रात तक उत्तरी कैरोलिना तक पहुंचने की उम्मीद है.

इस तूफान से सबसे ज्यादा नुकसान हैती को पहुंचा है, जहां 30 हजार मकान धराशायी हो गए हैं, जबकि देश के केवल दक्षिणी हिस्से में 150 लोग मारे गए हैं.

कई इलाकों में गन्ना, केला व आम की फसलें पूरी तरह बर्बाद हो गई हैं.

भारी विनाश के कारण राहत प्रयास भी प्रभावित हुआ है. पेड़ और इमारतें गिर गई हैं और सुदूरवर्ती इलाकों में रहने वाले लोग बाढ़ के पानी से खुद को असहाय महसूस कर रहे हैं.

संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि मैथ्यू के कारण हुए नुकसान से उबरने में हैती को वक्त लगेगा.

हैती के सिविल प्रोटेक्शन एजेंसी ने शुक्रवार को कहा कि मृतकों की संख्या 400 से बढ़कर 800 से अधिक हो गई.

वर्ल्ड फूड प्रोग्राम्स के हैती के निदेशक कारलोस वेलोसो ने कहा कि हैती के प्रभावित कुछ कस्बों तक केवल हवाई या सागर के रास्ते से ही पहुंचा जा सकता है.

मैथ्यू तूफान से हैती का पश्चिमी प्रायद्वीप पूरी तरह बेहाल हो गया. 145 मील प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलीं और मूसलाधार बारिश हुई. 61,500 से अधिक लोगों ने आश्रय गृहों में शरण ले रखी है.

मोबाइल फोन काम नहीं कर रहा है, सड़कों पर पानी जमा है, जिस कारण हैती के सबसे ज्यादा प्रभावित इलाके तक सहायता पहुंचाने में परेशानी आ रही है.

हैती का कम से कम एक सबसे बड़ा शहर जेरेमी 80 फीसदी तक बर्बाद हो चुका है. हवाई जहाज से ली गई तस्वीरों में बर्बादी साफ झलक रही है, जिसमें सैकड़ों मकान धराशायी दिख रहे हैं.

अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने चेतावनी दी है कि उत्तरी फ्लोरिडा सबसे बुरी तरह प्रभावित हुआ है. यह तूफान अब भी बहुत खतरनाक है और तूफान के बढ़ने का खतरा है.

अमेरिका के कई राज्यों में आपातस्थिति लागू की गई. तूफान की वजह से यातायात बुरी तरह प्रभावित हुआ है और बुधवार से शनिवार तक 5200 से अधिक विमानों की उड़ानें रद्द हुई हैं.