हरिकेन मैथ्यू ने हैती में मचाया कोहराम, 300 से ज्यादा मरे | फ्लोरिडा में आपातकाल

मियामी।… विनाशकारी चक्रवात मैथ्यू के अमेरिका में फ्लोरिडा तट से सीधे टकराने की आशंका के मद्देनजर अमेरिका के दक्षिणपूर्वी तट से गुरुवार को लगभग तीस लाख लोगों को तत्काल हटा लिया गया.

पूर्वानुमान के अनुसार, चक्रवात शुक्रवार को अमेरिका में केन कैनावेरल के पास पहुंच जाएगा, जहां नासा का केनेडी अंतरिक्ष केंद्र है. मैथ्यू के कारण सिर्फ हैती में ही अब तक 300 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है.

राष्ट्रपति बराक ओबामा ने फ्लोरिडा के लिए आपात स्थिति की घोषणा की है. तूफान से बचने के लिए भीतर का रुख कर रहे लोगों के कारण यहां और पड़ोसी राज्यों के राजमार्ग जाम हो चुके हैं. अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि चौथी श्रेणी का चक्रवात और ज्यादा विनाशकारी और खतरनाक साबित हो सकता है. तटों से दो मंजिला तक ऊंचाई वाली लहरें उठ रही हैं, हवाएं इतनी तेज हैं कि उनके कारण पेड़ और घरों की छतें या पूरे के पूरे घर ही जमीन से उखड़ सकते हैं.

फ्लोरिडा के गवर्नर रिक स्कॉट ने मैथ्यू तूफान के प्रभाव में आने वाले राज्य के 15 लाख लोगों से इस तूफान को गंभीरता से लेने का आग्रह किया. उन्होंने इस तूफान से होने वाली संभावित विभिषिका को लेकर आशंका जताते हुए कहा, ‘यह बहुत गंभीर है. यह तूफान आपको मार डालेगा. वक्त खत्म होता जा रहा है.’

हैती में मैथ्यू चक्रवात से मरने वालों की संख्या 300 के करीब पहुंच गई है. साथ ही अधिकारी देश में अब चक्रवात के कारण अलग-थलग हुए हिस्सों में जाने लगे हैं. इससे पहले गृहमंत्री फ्रैंकोइस एनिक जोसेफ ने इस चक्रवात के कारण कम से कम 140 लोगों के मारे जाने की घोषणा की थी.

अधिकारियों ने देश के उत्तरी हिस्से में स्थित ग्रैंड एनसे के प्रति खास चिंता जाहिर की है, जहां श्रेणी 4 वाले मैथ्यू के कारण सड़क एवं संचार संपर्क कट गया. गृह मंत्रालय के प्रवक्ता गुइलाउम अल्बर्ट मोलियन ने बताया ‘यह क्षेत्र बुरी तरह प्रभावित हुआ है.’ वहां का मुख्य शहर जेरेमी बुरी तरह प्रभावित हुआ है जहां भूख सबसे बड़ी समस्या है.