ऑनलाइन मिलेंगे छात्रवृत्ति और सरकारी अनुदान, तुरंत आधारकार्ड बैंक से लिंक करें : डीएम रावत

सभी प्रकार की छात्रवृत्ति और सरकारी अनुदान को ऑनलाइन बैंक खातों के माध्यम से दिए जाने के सरकार के आदेश हैं. खाताधारक लाभार्थियों एवं छात्र-छात्राओं को अपना आधार नम्बर अपने बैंक के खाते से लिंक कराना होगा, तभी अनुदान व छात्रवृत्ति मिल सकेगी. जिलाधिकारी दीपक रावत ने यह जानकारी दी है.

डीएम रावत ने कहा कि ऑनलाइन भुगतान प्रक्रिया से जहां भ्रष्टाचार पर लगाम लगेगी, वही भुगतान में किसी प्रकार का विलम्ब भी नहीं होगा. डीएम बुधवार देर शाम विभिन्न शिक्षण संस्थाओं में छात्रवृत्ति भुगतान में खातों में आधार लिंकेज किए जाने की समीक्षा कर रहे थे.

डीएम रावत ने समीक्षा के दौरान पाया कि आधार कार्ड बनाने तथा उनको लिंक किए जाने की रफ्तार काफी धीमी है. इस पर नाराजगी व्यक्त करते हुए उन्होंने मुख्य शिक्षा अधिकारी के साथ ही आईटीआई, पॉलिटेक्निक के प्रधानाचार्यों को निर्देशित किया कि शीघ्र-अतिशीघ्र अध्यनरत छात्र-छात्राओं के आधार लिंकेज कराएं, जिन छात्र-छात्राओं के आधार अभी नहीं बन पाए हैं, उन्हें जन आधार केन्द्र पर ले जाकर उनके आधार बनवाएं.

उन्होंने ने कहा कि आधार कार्ड सात दिन में ऑनलाइन बन जाता है, जिसे डाउनलोड किया जा सकता है तथा सम्बन्धित संस्था 1 माह के भीतर आधार कार्ड की हार्ड कॉपी उपलब्ध करा देती है. जिलाधिकारी ने बताया कि छात्रवृत्ति के आवेदन की ऑनलाइन तिथि बढ़ाकर 31 अक्टूबर कर दी गई है, लिहाजा छात्र-छात्राओं के आवश्यक दस्तावेज 15 अक्टूबर तक जमा करते हुए आवेदन को ऑनलाइन कराना सुनिश्चित करें.

बैठक में मुख्य शिक्षा अधिकारी रघुनाथ लाल आर्य के अलावा हीरालाल गौतम, एके वर्मा, कमला जोशी, जानकी बिष्ट, डॉ. एआर अंसारी आदि मौजूद थे.