हरक रावत ने मुख्यमंत्री हरीश रावत पर लगाए क्षेत्रवाद के गंभीर आरोप

कांग्रेस से बगावत करने के बाद बीजेपी में शामिल हुए पूर्व मंत्री हरक सिंह रावत गुरुवार को एक कार्यक्रम में रुड़की पहुंचे, जहां उन्होंने राज्य सरकार और खासकर मुख्यमंत्री पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि हरीश रावत एकला चलो की राजनीति करते हैं.

हरक ने कहा कि सरकार पीडीएफ को अपनी बैसाखी समझकर चल रही है. लेकिन वैसाखी पर चलने वाले व्यक्ति ज्यादा दिनों तक नहीं चल पाते हैं. हरक ने कहा कि यदि कोई अपने पैरों पर चले तो वो वह जरूर अपनी मंजिल तक पहुंच सकता है.

पूर्व मंत्री ने कहा कि हरीश रावत अकेले चलने की राजनीति करते हैं. उन्होंने कुमाऊं-गढ़वाल की राजनीति पर भी उंगली उठायी और कहा कि हरीश रावत के साथ कुमाऊं के ही नेता होंगे न कि गढ़वाल के. इसलिए वे किशोर उपाध्याय को अपने साथ लेकर क्यों चलेंगे. हरक सिंह रावत ने कहा कि वे बीजेपी में बिना शर्त के आए हैं.

उन्होंने कहा कि उन्हें सिर्फ राज्य का विकास करना है. 2017 के विधानसभा में चुनाव में बीजेपी हाईकमान जो निर्णय लेगा, वही मान्य होगा. वे टिकट मांगने के लिए बीजेपी में नहीं आए हैं. हरक कहा कि आने वाले विधानसभा चुनाव में बीजेपी ही सरकार बनाएगी. हरीश रावत जनसमर्थन खो चुके हैं. कुछ गिनेचुने लोग ही उनके साथ हैं.