देवप्रयाग : रातभर होटल में रुका अनचाहा मेहमान, होटलकर्मियों को सुबह चला पता

देवप्रयाग में ऋषिकेश-बद्रीनाथ राजमार्ग स्थित पंतगांव में एक होटल में रविवार रात को एक मेहमान रहने को आया, लेकिन इसके बारे में किसी को भनक तक नहीं लगी. दरअसल यह मेहमान कोई और नहीं गुलदार था.

रातभर होटल में छिपे गुलदार ने जब सोमवार तड़के मेन गेट से निकलने की कोशिश की तो होटल कर्मियों की नींद टूटी. गनीमत यह रही कि होटलकर्मियों को कोई नुकसान पहुंचाए बिना गुलदार बाथरूम की खिड़की से निकलकर जंगल की ओर भाग गया.

घटना टिहरी जिले में देवप्रयाग से छह किलोमीटर दूर राजमार्ग स्थित एक होटल की है. होटल संचालक विक्रम कोटियाल ने बताया कि यात्रियों के लिए रात 11 बजे तक होटल का मेन गेट खुला रहता है. गुलदार के घुसने का पता होटल कर्मियों को सोमवार तड़के तब चला जब उन्होंने कांच के मेन गेट से किसी चीज के टकराने की आवाज सुनी.

leopard-guldar

होटल कर्मी मनोज ध्यानी व सोनी चौहान ने मेनगेट के सामने देखा तो उनके होश फाख्ता हो गए. होटल से दोनों कर्मी गुलदार से बचने के लिए दौड़ने लगे. इसी बीच गुलदार बाथरूम में घुस गया, जहां खुली खिड़की से कूदकर वह जंगल की ओर भाग गया.

होटल संचालक विक्रम ने बताया कि होटल की तेज रोशनी से गुलदार रातभर किसी अंधेरे कोने में छिपा रहा. गनीमत यह रही कि उसने किसी कर्मचारी पर हमला नहीं किया. रात को होटल में यात्री भी नहीं ठहरे थे. सूचना पर सोमवार सुबह वन दरोगा तुलसीदास मौके पर पहुंचे और होटल संचालक को देर रात तक मेन गेट खुला न छोड़ने की हिदायत दी.