रामनगर: डीएम दीपक रावत की पहल पर 17 दिनों से चला आ रहा आमरण अनशन ख़त्म

जिलाधिकारी दीपक रावत की पहल से रामनगर मे चार मांगो को लेकर 17 दिनों से चल रहा आमरण अनशन समाप्त हुआ। श्री रावत ने आमरण अनशन मे बैठे इन्दर सिह मेहरा को जूस पिलाकर अनशन समाप्त करवाया । जिलाधिकारी ने लोक कल्याण समिति द्वारा लखनपुर शहीद पार्क मे चलाये जा रहे आन्दोलन कर्ताओं को सम्बोधित करते हुये कहा कि पम्पापुरी, भरतपुरी, दुर्गापुरी व कौशल्यापुरी की भूमि के प्रकार को स्पष्ट कर आख्या सहित विनियमितीकरण हेतु शासन को भेज दिया गया है, तथा कल से ही उपरोक्त काॅलोनियों का सर्वे कराने के निर्देश मौके पर ही उपजिलाधिकारी को दिये।
श्री रावत ने कहा कि सप्ताह में एक दिन एआरटीओ उपजिलाधिकारी कार्यालय रामनगर में बैठने के निर्देश कर दिये गये है, साथ ही रोडवेज स्टेशन की डीपीआर के लिए प्रथम चरण में धनराशि प्राप्त हो चुकी थी अब रोडवेज स्टेशन के निर्माण हेतु धनराशि की मांग शासन स्तर से कर दी गयी है, कोसी नदी किनारे सडक निर्माण का प्रस्ताव जो वन भूमि हस्तान्तरण हेतु लम्बित है उसे त्वरित गति लाकर 15 दिन के भीतर वन भूमि निस्तारण हेतु आॅनलाईन कर दिया जायेगा।
जिस पर आन्दोलनकारी समिति द्वारा जिलाधिकारी दीपक रावत का आभार व्यक्त करते हुये आमरण अनशन समाप्त करने की घोषणा की। इस अवसर पर गणेश रावत, यशपाल आर्य, गंगादेवी, झाबा देवी, कमला डंगवाल, सुदेश बंसल, मंजुला श्रीवास्तव, ऊषा घुगतियाल, विभा श्रीवास्तव, गोमती रावत, मंजू सक्सेना तुलसी बवाडी के अलावा उप जिलाधिकारी परितोष वर्मा, सीओ स्वतंत्र कुमार एवं अनेक आन्दोलनकारी मौजूूद थे।