अदनान सामी ने आतंकवाद पर पाकिस्तान को लताड़ा, बोले- ‘कभी तो नजर मिलाओ’

पाकिस्तान मूल के भारतीय नागरिक तथा गायक अदनान सामी को भारतीय सेना के ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ की सराहना करने पर पाकिस्तानी नागरिकों की ओर से ट्विटर पर आलोचना का शिकार होना पड़ रहा है.

अदनान ने ‘इंडिया टुडे सफाइगीरी अवॉर्ड्स 2016’ के मौके पर कहा, वह ट्वीट मेरे दिल से निकला था और मैं उन्हें माफ करता हूं, जिन्होंने मेरी आलोचना की है.

अदनान ने जम्मू एवं कश्मीर में नियंत्रण रेखा के पार भारतीय जवानों द्वारा की गई ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ के लिए भारतीय सेना की प्रशंसा की थी. पाकिस्तानियों द्वारा ट्विटर पर की गई आलोचनाओं के जवाब में उन्होंने कहा कि उनकी प्रतिक्रिया साफ तौर पर दर्शाती है कि वे ‘आतंकवादियों और पाकिस्तान’ के बीच के फर्क को नहीं समझते.

अदनान ने कहा, ‘हमें यह देखना चाहिए कि स्ट्राइक क्यों हुई, किसके खिलाफ हुई या नहीं. यह किसी भूमि पर कब्जा करने के उद्देश्य से की गई ‘स्ट्राइक’ नहीं थी, बल्कि एक अनुचित हमले का जवाब था. ‘स्ट्राइक’ आतंकवादी शिविर को निशाना बनाकर की गई थी.

उन्होंने कहा, आतंकवाद की कोई सीमा नहीं होती. आतंकवादी मुंबई, पेशावर और पेरिस सभी को निशाना बनाते हैं.
‘आतंक की सफाई’ के विषय पर उन्होंने कहा, ‘कलाकार शांति चाहते हैं, लेकिन केवल वे नहीं, सभी शांति चाहते हैं. उन्होंने अपने सुपरहिट गीत ‘कभी तो नजर मिलाओ’ को पाकिस्तान को समर्पित करते हुए सवाल उठाया कि वह साफ इरादे से बढ़ाए गए दोस्ती के हाथ को क्यों ठुकराता है.