भारत की मंशा किसी की भूमि कब्जाने की नहीं : मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि भारत की मंशा कभी किसी देश की भूमि पर कब्जा करने की नहीं रही है और न ही इसने कभी किसी देश पर हमला किया, बल्कि इसने हमेशा दूसरों की स्वतंत्रता के लिए बलिदान दिया. प्रधानमंत्री ने यहां प्रवासी भारतीयों को समर्पित एक अत्याधुनिक परिसर, प्रवासी भारतीय केंद्र के उद्घाटन अवसर पर कहा, “भारत ने कभी किसी की भूमि पर कब्जा करना नहीं चाहा और न ही किसी देश पर हमला किया. फिर भी प्रथम विश्व युद्ध के दौरान हजारों भारतीयों ने अपने जान की कुर्बानी दी.”

उन्होंने कहा, “पिछले दो वर्षो में आपने देखा होगा कि सरकार ने किस तरह लोगों को संघर्षरत क्षेत्रों से बाहर निकाला, जिनमें न केवल भारतीय, बल्कि विदेशी भी शामिल हैं.”

मोदी ने कहा, “मानवीय मुद्दों पर विदेश मंत्रालय ने एक नया मानक स्थापित किया है.”

प्रधानमंत्री की यह टिप्पणी 18 सितंबर को जम्मू एवं कश्मीर के उड़ी में सेना के शिविर पर हुए आतंकवादी हमले के बाद भारत-पाकिस्तान के बिगड़ते संबंधों और सीमा पर बढ़ते तनाव के बीच आई है, जिसमें 19 जवान शहीद हो गए.

मोदी ने कहा, “मानवता हमारे लिए एक मुख्य प्रेरणा है और दुनिया ने इसे सिर्फ हमारे विरासत की वजह से नहीं, बल्कि हमारे कदमों के कारण भी माना है.”