नैनीताल : सफाई के लिए नाले में तो उतरे, लेकिन सफाई किए बिना लौट गए डीएम रावत | मंशा पर उठ रहे सवाल

नैनीताल में गांधी जयंती के मौके पर कार्यक्रम रखा गया और इस कार्यक्रम में तमाम तरह की अव्यवस्था दिखायी दी. इस मौके पर गांधी जी की मूर्ति पर माल्यार्पण किया जाना था, लेकिन अधिकारियों ने प्रोटोकाल का मजाक की धज्जियां उड़ा दीं.

पालिका अध्यक्ष को सबसे पहले गांधी प्रतिमा पर पुष्प भेंट करने थे, लेकिन उनको आखिर में भेजा गया. इतना ही नहीं नैनीताल विधायक भी अधिकारियों के बाद ही गांधी जी की मूर्ति पर पुष्प भेंट कर सकीं.

अव्यवस्था की हद तो तब हो गई जब सफाई अभियान के लिए बच्चों को बुलाया गया, लेकिन उनको धूप में वहीं, छोड़ डीएम दीपक रावत सहित सभी अधिकारी वहां से निकल गए.

बात यहीं पर भी खत्म नहीं हुई. डीएम दीपक रावत सहित तमाम अधिकारी नाले की सफाई के लिए नाले में उतरे, लेकिन प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार 5 मिनट में फोटो खिंचवाकर नाले से बाहर निकले और वहां से भी चलते बने.

अधिकारियों के इस रवैये से पालिका अध्यक्ष भी आहत हैं. पालिका अध्यक्ष श्याम नारायण का कहना है कि हमेशा ही पालिका अधिकारियों द्वारा इस तरह से जन प्रतिनिधियों का मजाक बनाया जाता रहा है.

(साभार – प्रदेश-18)