संयुक्त राष्ट्र सैन्य समूह ने कहा, LoC पर बुधवार रात सीधे तौर पर कोई गोलीबारी नहीं दिखी

संयुक्त राष्ट्र।… पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में भारत के लक्षित हमले (सर्जिकल स्ट्राइक) करने के मद्देनजर संयुक्त राष्ट्र प्रमुख बान की मून के प्रवक्ता ने शुक्रवार को कहा कि इन दोनों देशों के बीच संघर्ष विराम की निगरानी की जिम्मेदारी संभाल रहे उसके मिशन को नियंत्रण रेखा पर सीधे तौर पर कोई फायरिंग नजर नहीं आई.

संयुक्त राष्ट्र महासचिव के प्रवक्ता स्टेफेन दुजार्रिक ने संवाददाताओं से कहा, ‘भारत और पाकिस्तान में संयुक्त राष्ट्र सैन्य निगरानी दल (यूएनएमओजीआईपी) को नई घटनाओं के संबंध में नियंत्रण रेखा के पार से सीधे तौर पर कोई फायरिंग नजर नहीं आई.’ उनसे जब इस बात पर स्पष्टीकरण मांगा गया कि भारत ने कहा है कि उसने नियंत्रण रेखा के पार लक्षित हमला किया तो यूएनएमओजीआईपी को कैसे कोई फायरिंग नजर नहीं आई, तब उन्होंने दोहराया कि यूएनएमओजीआईपी को सीधे तौर पर कोई फायरिंग नजर नहीं आई.

उन्होंने कहा, ‘वह निश्चित ही इन कल्पित उल्लंघनों की रिपोर्टों से वाकिफ हैं और वे संबंधित अधिकारियों से बात कर रहे हैं.’ एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की स्थायी प्रतिनिधि मलीहा लोधी ने शुक्रवार सुबह संयुक्त राष्ट्र प्रमुख से भेंट की थी, लेकिन बान का कार्यालय देशों के राजदूतों से अपनी भेंटों के बारे में ब्योरा नहीं देता.

प्रवक्ता ने कहा कि महासचिव नियंत्रण रेखा की स्थिति पर बहुत गंभीरता से नजर रखे हुए हैं और वह परमाणु संपन्न पड़ोसियों के बीच तनाव कम करने के लिए किसी भी प्रस्ताव का स्वागत करेंगे.