14 भारतीय सैनिक मारे जाने की खबर को सेना ने झुठलाया, गलती से LoC पार कर गया एक सैनिक पाकिस्तान के कब्जे में

पीओके में भारतीय सेना के सर्जिकल स्ट्राइक से इनकार करने के बाद पाकिस्तानी सेना ने नया पैंतरा खेला. पाकिस्तानी सेना का दावा है कि नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर बुधवार रातभर चली फायरिंग के दौरान आठ भारतीय सैनिक मारे गए हैं, जबकि एक सैनिक जिंदा पकड़ लिया गया है.

हालांकि, आधे घंटे के अंदर ही पाकिस्तान का यह पैंतरा फुस्स साबित हो गया. भारतीय सेना के सूत्रों ने आठ जवानों के मारे जाने की खबर को झूठ और बेबुनियाद करार दिया है. हालांकि, भारतीय सेना के डीजीएमओ ने जानकारी दी है कि भारतीय सेना का एक जवान पाकिस्तान में चला गया है. यह जवान 36 राष्ट्रीय रायफल्स का है जो गलती से एलओसी पार कर गया. इसका सर्जिकल स्ट्राइक से कोई लेना-देना नहीं है.

पाकिस्तानी मीडिया ग्रुप ‘डॉन’ ने पाकिस्तानी सेना के सूत्रों के हवाले से खबर दी कि यह घटना एलओसी पर ततापानी के पास फायरिंग के दौरान हुई. वहीं, ‘जियो न्यूज’ के हामिद मीर ने अपने शो ‘कैपिटल टॉक’ में दावा किया है कि एलओसी पर दो सेक्टरों में 14 भारतीय सैनिक मारे गए हैं. शो में मौजूद रक्षा विशेषज्ञ मेजर जनरल (रिटायर्ड) एजाज अवाज ने मीर के दावे की पुष्ट‍ि की.

पाकिस्तानी मीडिया ने पकड़े गए भारतीय सैनिक की पहचान चंदू बाबूलाल चौहान के तौर पर की है जिसे पाकिस्तानी सेना अज्ञात जगह पर ले गई है. इस सैनिक की उम्र 22 साल और पिता का नाम बाशन चौहान बताया जा रहा है जो महाराष्ट्र का रहने वाला है.

दावा किया जा रहा है कि भारतीयों सैनिकों के शव लेने के लिए भारतीय सेना की तरफ से कोई कोशिश नहीं की गई है. लेकिन कुछ देर बाद ही ‘डॉन’ ने अपनी खबर में संशोधन करते हुए 8 भारतीय सैनिकों के मारे जाने की खबर को हटा लिया.

बता दें कि भारतीय सेना ने बुधवार देर रात पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में घुसकर आतंकियों के कई लॉन्च पैड तबाह कर दिए. स्पेशल फोर्सेज के कमांडो ने सर्जिकल स्ट्राइक करते हुए आतंकियों के 8 कैंप तबाह कर दिए. करीब 4 घंटे चले इस ऑपरेशन में 35-40 आतंकी मारे गए. आतंकियों को बचाने की कोशिश में 2 पाकिस्तानी सैनिक भी मारे गए.