‘वास्तुदोष भी हो सकता है भ्रष्टाचार के आरोपी बीके बंसल व उनके पूरे परिवार की आत्महत्या का कारण’

कॉरपोरेट अफेयर्स मंत्रालय में अतिरिक्‍त सचिव स्‍तरीय अधिकारी बीके बंसल ने दिल्‍ली स्थित हाल ही में अपने अपार्टमेंट में आत्‍महत्‍या कर ली. उन पर रिश्वत लेने का आरोप था. पिता पर लगे इन्हीं आरोपों के चलते इसी अपार्टमेंट में इसी दिन उनके 25 वर्षीय बेटे योगेश ने भी आत्‍महत्‍या कर ली.

बीके बंसल भ्रष्‍टाचार के एक मामलें में जमानत पर बाहर थे. आरोप है कि उक्‍त मामले में पूछताछ के नाम पर सीबीआई के आला अधिकारियों द्वारा बंसल परिवार का मानसिक उत्‍पीड़न किया जा रहा था.

यही नहीं इस दोहरे आत्‍महत्‍या के मामले से करीब दो महीने पूर्व ही बीके बंसल की पत्‍नी व बेटी ने भी कुछ इन्‍हीं कारणों से खुदकुशी कर ली थी. यानी एक ही परिवार के चार लोगों ने आत्‍महत्‍या कर ली। बात वाकई चौंकाने वाली है.

घटना के वास्‍तविक कारण क्‍या हैं, यह तो जांच का विषय है. लेकिन एक हाई प्रोफाइल परिवार के पढ़े-लिखे सदस्‍यों द्वारा खुदकुशी जैसा कदम उठाया जाना, किसी को भी अचम्भित कर सकता है. यह सोचने पर मजबूर अवश्‍य करता है.

मामले के कानूनी और मानवीय पक्षों के इतर कुछ और भी है जो इस अचम्भित कर देने वाली घटना के लिए जिम्‍मेदार हो सकता है.

naresh_singal325विख्यात वास्तुविद् नरेश सिंगल ने बताया कि भवन के उत्‍तर-पूर्व, मध्‍य और दक्षिण-पश्चिम का दोषपूर्ण होना आत्‍महत्‍या की प्रवृति को जन्‍म देता है और आक्‍समिक मौत का कारण बनता है.

भवन के दक्षिण-पूर्व व दक्षिण के वास्‍तुदोष अगर गंभीर हैं तो व्‍यक्ति इस तरह के आरोपों और मुकदमों में फंसता है. पंच तत्‍वों में सामंजस्‍य न होना स्थिति को बद्तर बना देता है. अगर आप अवसाद से जूझ रहे हैं तो आपके लिए उससे बाहर निकलना लगभग असंभव हो जाता है.

DISCLAIMER: The ideas and suggestions recommended on this site are personal opinions of the authors and do not bind them under any legal obligation. The objects or products named for Vaastu remedies are not sold by the writers/ authors/ bloggers themselves. Although anybody is free to use the advice tendered on the page, it does not entail any fixed time framework to show results as it may depend on a case to case basis and hence no guarantee is generated by the writers. Further, the information given here is in no way intended to be a substitute for medical advice.