पीएम मोदी बोले, लोकतंत्र की मजबूती के लिए जरूरी हैं चुनाव सुधार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को चुनाव सुधारों पर बल देते हुए कहा कि लोकतंत्र की मजबूती के लिए यह जरूरी है. बीजेपी की राष्ट्रीय परिषद की बैठक में कोझिकोड में मोदी ने कहा, ‘मुझे लगता है कि यह समय चुनावों में सुधार लाने का है. पंडित दीनदयाल उपाध्याय के शताब्दी वर्ष में हम पूरे देश में चुनाव सुधारों पर सेमिनार का आयोजन कर सकते हैं.’

उन्होंने कहा, ‘कम से कम हमें इस मुद्दे पर विचार-विमर्शशुरू कर देना चाहिए और हम देखेंगे कि इस मंथन से कौन सा अमृत बाहर आएगा.’ उन्होंने कहा, ‘लोकतंत्र की जड़ों को मजबूत करने के लिए हमें चुनाव सुधार करने होंगे. इसके लिए चुनावी प्रक्रियाओं में हमें कुछ नई चीजें जोड़नी होंगी और कुछ अप्रचलित चीजों को नष्ट करना होगा.’

पीएम मोदी ने कहा कि दूसरे राजनीतिक दलों के सदस्य भी उनसे चुनाव सुधारों के बारे में पूछ रहे हैं, लेकिन यह बेहतर होगा कि यह परिवर्तन गहन विचार-विमर्श के बाद उभर कर सामने आए. यह कम से कम तीसरी बार है जब प्रधानमंत्री ने चुनाव सुधारों की बात की है. इसमें देश में संसदीय और राज्य विधानसभा चुनाव एक साथ कराने की बात शामिल है.