गोपेश्वर : आधे घंटे तक अकेले भालू से लड़ी 60 वर्षीय बसंती देवी, जीती जिंदगी की जंग

चमोली जिले के गोपेश्वर में एक महिला ने भालू के साथ संघर्ष करने के बाद जिंदगी की जंग जीत ली. 60 वर्षीय महिला के साहस को देखकर जोशीमठ क्षेत्र में हर कोई स्तब्ध है. हालांकि महिला को गंभीर रूप से घायल स्थिति में बेस अस्पताल श्रीनगर के लिए रैफर कर दिया गया. महिला के सिर और पीठ पर करीब पचास टांके लगे हैं.

नगर पालिका जोशीमठ के गोरंग मोहल्ला निवासी साठ वर्षीय बसंती देवी गांव से करीब सौ मीटर दूर मकान में अकेले रहती है. शनिवार रात करीब नौ बजे वह रसोई में रोटी बना रही थी. इसी दौरान भालू ने महिला पर पीछे से झपट्टा मारकर हमला कर दिया. भालू महिला को घसीट कर खेतों की ओर ले गया. महिला ने हाथ में आए पत्थरों और डंडे से भालू के मुंह और आंखों पर प्रहार करना शुरू कर दिया.

करीब आधे घंटे तक चले इस संघर्ष में भालू भी जख्मी हो गया था, जिससे वह हार मानकर महिला को वहीं छोड़कर जंगल की ओर भाग गया. रातभर महिला खेत में बेहोशी की हालत में पड़ी रही.

रविवार सुबह छह बजे गांव के कुछ लोगों ने महिला को खेतों में पड़े देखा तो उसे एंबुलेंस सेवा 108 सेवा की मदद से सीएचसी जोशीमठ में भर्ती कराया गया. प्राथमिक उपचार के बाद महिला को बेस अस्पताल श्रीनगर के लिए रैफर कर दिया गया.