हरदा का उद्योगपतियों को न्योता : आएं उत्तराखंड में करें निवेश, मिलेंगी सभी सुविधाएं

उत्तराखंड में उद्योगों के अनुकूल वातावरण होने, दक्ष मानव संसाधन तथा बिजली की पर्याप्त उपलब्धता जैसी सुविधाओं का हवाला देते हुए मुख्यमंत्री हरीश रावत ने देश के उद्यमियों को राज्य में निवेश के लिए आमंत्रित किया.

भारतीय उद्योग परिसंघ द्वारा गुरुवार को आयोजित कार्यक्रम में उद्यमियों को संबोधित करते हुए हरीश रावत ने कहा कि उत्तराखंड का सुविधा युक्त वातावरण उद्योगों के लिए अनुकूल है. उन्होंने कहा, राज्य में दक्ष मानव संसाधन के साथ ही बिजली की भी पर्याप्त उपलब्धता है. उद्योगों को औसतन 24 घंटे बिजली उपलब्ध करायी जा रही है. उद्यमियों के लिए एकल खिड़की सुविधा तैयार की गई है.

सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार, मुख्यमंत्री ने बताया कि उत्तरखंड में आईटी व टेक्सटाइल सेक्टर में भी निवेश की अपार संभावनाएं हैं और इसके लिए नीति तैयार की जा रही है. उन्होंने कहा कि राज्य की कानून व्यवस्था भी बेहतर है जबकि राज्य के लोगों की क्रय क्षमता बढ़ाने के लिए समावेशी विकास पर ध्यान दिया जा रहा है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य की प्रति व्यक्ति आय राष्ट्रीय दर के मुकाबले दोगुनी है और राज्य में बड़ी संख्या में आईटीआई, पॉलिटेक्निक व इंजीनियरिंग कॉलेज है जो दक्ष युवाओं को उद्योगों की आवश्यकता के अनुकूल तैयार करने का कार्य कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि राज्य की सूक्ष्म पनबिजली नीति तैयार की गई है और उद्यमी गांव वालों के साथ साझीदारी में छोटी जल विद्युत परियोजनाएं स्थापित करने में आगे आ सकते हैं.

हरीश रावत ने कहा कि राज्य में सड़कों की स्थिति भी बेहतर है तथा जौलीग्रांट व पंतनगर हवाई अडडे हवाई सेवा उपलब्ध करा रहे है. गौचर, नैनीसेनी व चिन्यालीसौंड की हवाई पट्टी तैयार हो गई है. हैलीकॉप्टर सेवा शुरू करने के लिए 20 हैलीपेड तैयार हो रहे हैं.