देहरादून : फेसबुक पर सुसाइड नोट लिखकर युवक ने की आत्महत्या

‘मैंने जो किया उसकी सजा कोई दे न दे मैं खुद को जरूर दूंगा. मैं जिंदा रहूंगा तो टेंशन देता रहूंगा. अपनी आत्महत्या के लिए मैं खुद ही जिम्मेदार हूं.’ सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक पर बबलू ने बुधवार शाम यह आखिरी पोस्ट किया और उसके बाद विषाक्त खाकर खुदकुशी कर ली.

दो टुकड़ों में छोड़े गए सुसाइड नोट में भी उसने अपनी मौत के लिए खुद को जिम्मेदार बताया है. मूल रूप से अमृतसर का रहने वाला 25 वर्षीय बबलू इस समय अस्थायी राजधानी देहरादून के सालावाला में किराये के मकान में रह रहा था और पलटन बाजार में नौकरी करता था.

14 सितंबर को फेसबुक में उसने डॉमिनोज में चौथी नौकरी छूटने और उसके बाद 16 सितंबर को ‘फीलिंग अलोन’ पोस्ट किया था. हाथी बडकला चौकी पुलिस के मुताबिक बुधवार देर रात सूचना मिली कि सालावाला में किराये पर रहने वाले बबलू (25) निवासी मुंसिपल कॉरपोरेशन मोहकमपुरा अमृतसर ने विषाक्त का सेवन कर लिया.

रूम पार्टनर दो युवतियों ने बबलू को पहले मैक्स अस्पताल में भर्ती कराया, जहां से उसे श्री महंत इंदिरेश अस्पताल के लिए रेफर किया गया. साथी युवतियां बबलू को वहां के बजाय दून स्पिन अस्पताल कैनाल रोड ले गई, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

कमरे में पुलिस को तलाशी के दौरान कागज के दो टुकड़ों में सुसाइड नोट मिला है, जिसमें बबलू ने मौत के लिए खुद को जिम्मेदार बताया है. यह दोनों कागज के टुकड़े दवा की शीशी से उतारे गए थे. एसएसपी डॉ. सदानंद दाते ने प्रशिक्षु सीओ से पूरे मामले की जांच कराई थी.

चौकी प्रभारी विकास कुमार ने बताया कि बबलू पलटन बाजार में नौकरी करता था. इन युवतियों में एक उसकी धर्म बहन जबकि दोनों युवतियां उसकी दोस्त है. जांच के दौरान पुलिस ने बबलू की फेसबुक आईडी खंगाली तो कई राज सामने आए.

उसने आखिरी पोस्ट में लिखा था कि वह जिंदा रहेगा तो दूसरों को टेंशन मिलती रहेगी. इसलिए वह अपनी गलतियों की सजा खुद को देना चाहता है. कई पोस्ट में उसके किसी के साथ प्रेम प्रसंग होने और टेंशन में होने की बातें भी सामने आईं.