यो-यो हनी सिंह भी हो गए फ्लॉप, अब पहाड़ों में इस तरह भगाए जाएंगे जंगली सूअर

Honey-Singh-Song-Satan-Red-Eyes

उत्तराखंड के पहाड़ों में जंगली सूअर खेती किसानी के लिए लगातार मुसीबत का सबब बने हुए हैं. इससे निपटने के लिए वन विभाग अब नया तरीका अपना रहा है.

पहले जंगली सूअरों से निपटने के लिए हनी सिंह के ‘रैप’ का सहारा लिया गया, लेकिन जब इससे भी सूअरों का आतंक बंद नहीं हुआ तो अब ‘रेड फॉक्स’ की मदद ली जा रही है.

अब इनसे निपटने के लिए वन विभाग लाल लोमड़ी (रेड फॉक्स) की मदद लेगा. योजना है कि लुप्त होने की स्थिति में पहुंच गई लाल लोमड़ी की नैनीताल चिड़ियाघर में पहले आबादी बढ़ाई जाएगी और फिर उनको पहाड़ के जंगलों में सूअरों के बच्चों के शिकार के लिए छोड़ा जाएगा.

fox

दक्षिण वृत्त वन संरक्षक डॉ. तेजस्विनी पाटिल कहती हैं कि पहले पहाड़ों में रेड फॉक्स की अच्छी खासी संख्या थी. शहर में सायरन बजता था तो लोमड़ी भी आवाज करती थी. लेकिन इनकी संख्या अब कम हो गई.

नैनीताल डिवीजन में ही कैमरा ट्रैप लगाए गए तो मुश्किल से चार से पांच लाल लोमड़ियां रिपोर्ट हुई हैं. इस लाल लोमड़ी के सहारे ही अब सूअरों की आबादी को नियंत्रित करने की तैयारी है.

इसके लिए नैनीताल जू में ही लाल लोमड़ी का ब्रीडिंग सेंटर बनाने की योजना है, जहां पैदा होने वाले लाल लोमड़ी के बच्चों को पहाड़ के जंगलों में छोड़ा जाएगा.