अखिलेश के 7 करीबियों को शिवपाल ने पार्टी से बर्खास्त कर दिया

उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री तथा समाजवादी पार्टी (सपा) के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव ने सोमवार को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के सात करीबी नेताओं पर गाज गरा दी. शिवपाल ने तीन विधान परिषद सदस्यों (एमएलसी) और चार नेताओं को पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने और सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव के खिलाफ नारेबाजी करने को लेकर पार्टी से बर्खास्त कर दिया. शिवपाल ने जिन सात नेताओं को बाहर का रास्ता दिखाया है, वे सभी अखिलेश के बेहद खास माने जाते हैं.

शिवपाल ने सोमवार को जारी एक बयान में विधान परिषद के तीन सदस्यों और पार्टी की युवा शाखा के चार अध्यक्षों को पार्टी से बर्खास्त करने की घोषणा की है.

सपा सूत्रों के मुताबिक, इन सभी नेताओं पर कार्रवाई इसीलिए हुई है, क्योंकि तीन दिन पहले इन्होंने मुलायम सिंह यादव के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की थी. विधान परिषद सदस्यों आनंद भदौरिया, सुनील यादव साजन, संजय लाठर को पार्टी से बर्खास्त किया गया है.

सूत्रों के अनुसार, सुनील साजन और आनंद भदौरिया को मुख्यमंत्री का बेहद करीबी माना जाता है. मुलायम के कहने पर इन्हें पहले भी पार्टी से बर्खास्त किया गया था, लेकिन अखिलेश की जिद की वजह से इनकी न केवल वापसी हुई, बल्कि इन्हें एमएलसी भी बनाया गया.

इसके अतिरिक्त सपा यूथ ब्रिगेड के प्रदेश अध्यक्ष मोहम्मद एबाद, समाजवादी युवजन सभा के प्रदेश अध्यक्ष बृजेश यादव, यूथ बिग्रेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष गौरव दुबे तथा समाजवादी छात्र सभा के अध्यक्ष दिग्विजय सिंह को भी पार्टी से बर्खास्त किया गया है.

उल्लेखनीय है कि शिवपाल ने शुक्रवार को अरविंद सिंह गोप के साथ ही बीते 23 वषरें से पार्टी के प्रवक्ता रहे राजेंद्र चौधरी को भी पद से हटा दिया था. इसके बाद रविवार को मैनपुरी से विधान परिषद सदस्य तथा रामगोपाल के करीबी अरविंद सिंह यादव को भी पार्टी से बाहर कर दिया था.