उड़ी हमले में 17 जवान शहीद, सेना प्रमुख श्रीनगर पहुंचे

जम्मू एवं कश्मीर के उड़ी में रविवार सुबह एक सैन्य शिविर में हुए आतंकवादी हमले में 17 जवान शहीद हो गए. सुरक्षा बलों ने चार आतंकवादियों को मार गिराया. इस बीच, सेना प्रमुख दलबीर सिंह श्रीनगर पहुंच गए हैं. वह राज्य में पाकिस्तान की सीमा से लगे इलाकों में स्थित सैन्य प्रतिष्ठानों और शिविरों की सुरक्षा की समीक्षा करेंगे.

अधिकारियों ने बताया, इस हमले में 24 से अधिक जवान घायल हुए हैं. हमला सुबह 5.30 बजे हुआ, जब आतंकवादियों ने उरी कस्बे के इन्फैंट्री बटालियन के पिछले आधार शिविर को निशाना बनाया.

हमले के बाद आतंकवादियों और जवानों के बीच भारी गोलीबारी हुई, जो करीब ढाई घंटे चली.

गैर-सरकारी सूत्रों के अनुसार, शहीद होने वाले अधिकांश जवान बिहार रेजिमेंट से हैं. यह जम्मू एवं कश्मीर में पिछले एक दशक में किसी सैन्य शिविर पर सबसे बड़ा आतंकवादी हमला बताया जा रहा है.

अधिकारियों के अनुसार, मुठभेड़ हालांकि बंद हो गई है, पर इलाके में आतंकवादियों के छिपे होने की आशंका के मद्देनजर तलाशी अभियान चलाया जा रहा है.

फिलहाल किसी आतंकवादी गिरोह ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है. पर कुछ रिपोर्ट के अनुसार, आतंकवादियों ने हाल ही में पाकिस्तान से नियंत्रण रेखा से सटे भारतीय इलाके में घुसपैठ की थी.

सेना के उत्तरी कमान ने एक बयान जारी कर कहा, ‘भारी हथियारों से लैस आतंकवादियों के एक समूह ने 18 सितंबर की सुबह कश्मीर के उड़ी स्थित सैन्य शिविर को निशाना बनाया. जवाबी कार्रवाई में चार आतंकवादी मारे गए. तलाशी अभियान जारी है. हमारे 17 जवान शहीद हो गए. हम उनके बलिदान को सलाम करते हैं.’

इस हमले में घायल हुए जवानों को हेलीकॉप्टर से उरी से 70 किलोमीटर दूर श्रीनगर स्थित सेना के आधार अस्पताल ले जाया गया है.

इस बीच, केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने अमेरिका और रूस का अपना दौरा रद्द कर दिया है, जो रविवार से ही शुरू होने वाला था. उन्होंने हमले पर चर्चा के लिए एक उच्च स्तरीय बैठक बुलाई है.

राजनाथ ने ट्वीट किया, ‘उड़ी में हुए आतंकी हमले के मद्देनजर जम्मू एवं कश्मीर की स्थिति को देखते हुए मैंने रूस और अमेरिका का दौरा स्थगित कर दिया है.’

राजनाथ ने कहा कि उन्होंने जम्मू एवं कश्मीर के राज्यपाल एन.एन. वोहरा और मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से बात की.

केंद्रीय गृह मंत्री के अनुसार, ‘उन्होंने मुझे राज्य में सुरक्षा स्थिति से अवगत कराया.’