पिथौरागढ़ में भारी बारिश के बाद तबाही, ऊंची चोटियों में आज बर्फबारी के आसार

समस्त उत्तर भारत में मानसून भले ही अब ढलान की ओर है, लेकिन जिन क्षेत्रों में बारिश हो रही वहां यह कहर बरपाने से भी बाज नहीं आ रही. सीमांत पिथौरागढ़ जिले की धारचूला तहसील के जुम्मा क्षेत्र में भारी बारिश से कूलागाड़ नदी पर बना लकड़ी का पुल शनिवार को बह गया और इसमें दर्जनभर मवेशी भी बह गए. राजस्व विभाग की टीम मौके के लिए रवाना हो गई.

इधर, अस्थायी राजधानी देहरादून के राजपुर क्षेत्र में जोरदार बारिश हुई. इसके चलते रिस्पना नदी भी उफान पर आ गई. इसकी वजह से करीब एक घंटे तक नदी में बने टापू पर पार्क किए गए वाहन फंसे रहे. उधर, मौसम विभाग के अनुसार उत्तराखंड में रविवार को भी कहीं-कहीं बहुत हल्की से हल्की बारिश और चोटियों पर बर्फ गिरने की संभावना है.

धारचूला क्षेत्र में शनिवार शाम को मौसम ने करवट बदली और इसी के साथ झमाझम बारिश होने लगी. तहसील के जुम्मा क्षेत्र में बरसाती नदी कूलागाड़ के उफान से लकड़ी का पुल बह गया. करीब एक दर्जन मवेशी भी बह गए. धारचूला क्षेत्र के कई इलाकों में मार्ग भी बंद हो गए.

देहरादून क्षेत्र में शनिवार शाम राजपुर और रायपुर इलाकों में जोरदार बारिश हुई. इसी दौरान रिस्पना नदी भी उफान पर आ गई. देहरादून में नालपानी क्षेत्र, सहस्रधारा रोड सहित कुछ अन्य स्थानों में भी जोरदार बौछारें पड़ीं.