हरिद्वार : पीएम मोदी के जन्मदिन के कार्यक्रम में भगदड़ जैसे हालात, बड़ा हादसा टला

उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव नजदीक हैं और राजनीतिक दलों द्वारा वोटरों को लुभाने की तस्वीरें भी सामने आने लगी हैं. शनिवार को हरिद्वार बाईपास रोड स्थित वेडिंग प्वॉइंट पर बीजेपी महानगर की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन को सेवा दिवस के रूप में मनाया गया.

कार्यक्रम में जागर गायिका बसंती बिष्ट, लोकगायिका संगीता ढौंढियाल और प्रसिद्ध महिला पायलट ऋचा सूद को पार्टी की ओर से सम्मानित किया गया. कार्यक्रम में उस समय भगदड़ की स्थिति पैदा हो गई जब सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता और आम जनता घड़ी लेने के लिए टूट पड़ी.

दरअसल, बीजेपी महानगर अध्यक्ष उमेश अग्रवाल की ओर से महिला सम्मान समारोह आयोजित किया गया था, जिसमें धर्मपुर सहित अस्थायी राजधानी देहरादून की जनता बड़ी संख्या में पहुंची. कार्यक्रम में बीजेपी प्रदेश प्रभारी श्याम जाजू और केन्द्रीय कपड़ा राज्य मंत्री अजय टम्टा भी मौजूद रहे.

कार्यक्रम सम्पन्न होने के बाद पहले खाने के लिए मारामारी शुरू हुई और जैसे ही लोगों को पता चला कि वेडिंग प्वॉइंट के गेट पर घड़ियां वितरित की जा रही हैं तो लोग वहां भी टूट पड़े. घड़ी पाने के लिए सुरक्षा व्यवस्था में लगी पुलिस भी पीछे नहीं रही और पुलिस के जवान भी घड़ियां लूटते दिखे.

विधानसभा चुनाव से पहले धर्मपुर सीट पर बीजेपी में घमासान मचा हुआ है. पार्टी के कई धुरंधर नेता टिकट की आस लगा रहे हैं. महानगर अध्यक्ष बनने के बाद से ही उमेश अग्रवाल ने इस सीट पर अपनी दावेदारी अप्रत्यक्ष रूप से ठोंक दी. शनिवार को महिला सम्मान समारोह आयोजित कर पार्टी के बड़े नेताओं को भी संदेश दिया कि क्षेत्र में उनका बड़ा जनाधार है.

विधानसभा चुनाव नजदीक आते ही इस तरह की तस्वीर कई जगहों से सामने आ चुकी हैं, लेकिन बड़ा सवाल यह है कि अगर वहां भगदड़ के दौरान जान हानि होती तो इसकी जिम्मेदारी किसकी होती? ‘पार्टी विद डिफरेंस’ का नारा देने वाली बीजेपी क्या वोटरों को लुभाने के लिए इस हद तक जा चुकी है. सत्ता में वापसी के सपने देख रहे बीजेपी के दिग्गज नेता क्या इसी तरह राज्य में अपनी सरकार का सपना देख रहे हैं.