ऋषिकेश : जिंदगी से तंग आकर की खुदकुशी, सुसाइड नोट में लिखा ‘कोई जिम्मेदार नहीं’

सांकेतिक फोटो

‘मैं जिंदगी से तंग आकर अपनी जीवनलीला समाप्त कर रहा हूं…., मेरी मौत के लिए कोई जिम्मेदार नहीं…’ सुसाइड नोट में ऐसे चंद शब्द लिखकर एक अधेड़ ने मौत को गले लगा लिया. पुलिस ने शव कब्जे में लेकर सरकारी अस्पताल की मोर्चरी में रख दिया है. गुरुवार को लाश का पोस्टमार्टम होगा.

देहरादून जिले में ऋषिकेश की श्यामपुर चौकी पुलिस के मुताबिक खदरी श्यामपुर निवासी चिंतामणि पेटवाल (45) पुत्र स्व. रामेश्वर प्रसाद का शव बुधवार दोपहर कमरे में पंखे के सहारे रस्सी से लटका मिला. वह घर पर अकेले रहते थे. पत्नी से तलाक हो चुका था और माता-पिता का पहले ही निधन हो चुका है.

घटना का पता उस वक्त चला जब दोपहर कुछ दूरी पर स्थित मोटा प्लाट में रहने वाली भांजी उसका हालचाल लेने घर आई. कमरे में मामा का शव लटका देख वह चीख पड़ी, जिस पर आसपास के लोग मौके पर पहुंच गए. उन्होंने पुलिस को मामले की सूचना दी.

चौकी इंचार्ज आशीष गुसाईं ने बताया कि छानबीन करने पर कमरे से सुसाइड नोट बरामद हुआ है, जिसमें लिखा है कि जिंदगी से तंग आकर खुदकुशी कर रहा हूं. पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया. पुलिस ने बताया कि चिंतामणि बीते लंबे समय से अकेले रह रहे थे. पड़ोस में रहने वाली बहन उनकी देखभाल करती थी.