कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लड़ने की फिराक में कुछ भाजपाई, बीजेपी ने बताया अफवाह

प्रतीकात्मक फोटो

विधानसभा चुनाव सिर पर हैं और उत्तराखंड बीजेपी में सब कुछ ठीक-ठाक नहीं चल रहा है. कभी भगत सिंह कोश्यारी अपनी नाराजगी जता रहे हैं तो कभी बीसी खंडू़डी.

आगामी विधानसभा चुनावों में टिकट नहीं मिलने की आशंका को लेकर जहां बीजेपी के कुछ पूर्व विधायक कांग्रेस से नजदीकी बढ़ा रहे हैं, वहीं बीजेपी के कुछ वर्तमान विधायकों के मुख्यमंत्री हरीश रावत के संपर्क में होने की भी चर्चा है.

दरअसल, ये विधायक कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ने की संभावना टटोल रहे हैं. कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीतने की संभावना दिखने पर ये भाजपाई पाला बदल सकते हैं. सुगुबाहट के मुताबिक ऊधमसिंह नगर जिले के दो और हरिद्वार से जुड़े एक विधायक मुख्यमंत्री हरीश रावत के संपर्क में हैं.

ऊधमसिंह नगर जिले के इन विधायकों के बारे में राजनीतिक क्षेत्र में यह चर्चा है कि इनको इस बार बीजेपी के टिकट पर विधानसभा पहुंचने में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. इस स्थिति में वह पाला बदलने की सोच रहे हैं. इन दोनों विधायकों में एक के मुख्यमंत्री हरीश रावत से पहले से ही अच्छे संबंध बताए जा रहे हैं.

हरिद्वार से जुड़े विधायक को लेकर यह चर्चा है कि वह पार्टी की अंदरूनी राजनीति से काफी परेशान हैं. पार्टी के ही एक वरिष्ठ नेता से उनके मतभेद जगजाहिर हैं. पार्टी के वरिष्ठ नेता को सबक सिखाने के उद्देश्य से वह पाला बदल सकते हैं. क्योंकि अपने विधानसभा क्षेत्र में उनका अच्छा-खासा रसूख माना जाता है.

कहा तो यह भी जा रहा है कि हरिद्वार जिले के बीजेपी विधायक की कांग्रेस से जो बातचीत चल रही है, उसमें वह हरिद्वार लोकसभा सीट पर भी अपनी नजर गड़ाए हुए हैं.

इस मामले में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने इन कयासों को नकारते हुए कहा कि इस तरह की कोई संभावना नहीं है. इस तरह की अफवाह कांग्रेस द्वारा पिछले दो साल से फैलाई जा रही है. बीजेपी का कोई भी विधायक कांग्रेस की संपर्क में नहीं है. डूबते हुए जहाज पर कौन सवार होना चाहेगा?