केंद्र की उपलब्धियों पर ही फोकस करें तो उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में जीत तय : जेटली

राष्ट्रपति शासन के नाम पर एक बार पटखनी खा चुकी बीजेपी अब 2017 विधानसभा चुनाव के जरिए कांग्रेस से हिसाब बराबर करने की कोशिश में है.

रविवार को बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट से मुलाकात में केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने यह जता भी दिया. जेटली ने कहा कि राज्य में हर हाल में बीजेपी की सरकार आनी चाहिए, इससे केंद्र को मजबूती मिलेगी.

बता दें कि जेटली ही थे, जिन्होंने 27 मार्च 2016 को उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन लागू होने से पहले राष्ट्रपति को केंद्रीय कैबिनेट के फैसले से अवगत कराया था.

तब वह यह कहने से भी नहीं चूके थे कि हरीश रावत की सरकार पूरी तरह से अलोकतांत्रिक और अनैतिक है. इसके बावजूद हरीश रावत सरकार बहाल हुई. शायद यही कसक है जो उत्तराखंड पहुंचे जेटली को यह कहने को मजबूर कर गई कि 2017 में हर हाल में बीजेपी की सरकार चाहिए.

सूत्रों के मुताबिक राजभवन में रविवार को अरुण जेटली ने अजय भट्ट के साथ बीजेपी के राजनीतिक समीकरण और 2017 के विधानसभा चुनाव पर करीब एक घंटे तक खुलकर बात की. उन्होंने अजय भट्ट से बातचीत के बहाने बीजेपी संगठन, नेताओं की नब्ज टटोली और लगे हाथों राज्य में हाई एंड टूरिज्म के जरिए राज्य के विकास का खाका भी खींचा.

राज्य की हर तरह की आर्थिक मदद करने का दावा कर जेटली ने प्रदेश सरकार की ओर से केंद्र पर आए दिन लगाने वाले सौतेले व्यवहार के आरोप की धार को कुंद भी किया. उन्होंने कहा कि राज्य को जो भी चाहिए, दिया जाएगा, इसमें कोई राजनीति नहीं है.

जेटली ने बीजेपी की 2017 की चुनावी रणनीति की थाह भी ली और कहा कि केंद्र की उपलब्धियों पर ही बीजेपी फोकस करे तो विधानसभा चुनाव में जीत तय है. अजय भट्ट ने कांग्रेस सरकार की ओर से केंद्र पर लगाए जा रहे आरोपों का जिक्र किया.

अजय भट्ट के साथ में आए रुद्रपुर विधायक राजकुमार ठुकराल और काशीपुर विधायक हरभजन सिंह चीमा से जेटली ने बात की. बकौल ठुकराल उन्होंने जेटली से साफ कहा कि प्रदेश सरकार बीजेपी के विधायकों की उपेक्षा कर रही है. चीमा ने कहा कि काशीपुर में औद्योगिक संस्थान पनप नहीं पा रहे हैं.

जेटली से मुलाकात के बाद मीडिया से मुखातिब नेता प्रतिपक्ष अजय भट्ट ने कहा कि फंडिंग पैटर्न में बदलाव पर जेटली ने साफ कहा कि इसका परीक्षण किया जाएगा. जेटली ने हाईवे का राज्य में सुधार न होने पर हैरानी जताई और कहा कि केंद्र सरकार इसके लिए खासा पैसा खर्च कर रही है.

जेटली ने हाई एंड टूरिज्म का खाका भी खींचा और कहा कि एयर स्ट्रिप, पंच सितारा होटल और बेहतर सड़कों की राज्य को जरूरत है. इसके लिए केंद्र हर तरह की मदद करेगा. प्रदेश सरकार प्रस्ताव भेजे. अजय भट्ट के मुताबिक जेटली को बीजेपी की हर गतिविधि की जानकारी दी गई.

जेटली से मुलाकात के तुरंत बाद मीडिया से मुखातिब बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष और नेता प्रतिपक्ष अजय भट्ट ने कांग्रेस सरकार पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार आर्थिक संसाधनों का रोना रो रही है और हाल यह है कि फंड पार्किंग (केंद्र से मिली धनराशि) के 488 करोड़ रुपये का अभी तक उपयोग नहीं किया गया.

राज्य सरकार अभी तक जिला योजना बना ही नहीं पाई है. मुख्यमंत्री हरीश रावत केंद्रीय नेताओं से कुछ कहते हैं और बाहर आकर बयान कुछ और देते हैं. प्रदेश सरकार मई तक एक भी पैसा खर्च नहीं कर पाई थी. प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगते ही कई विभागों का खर्च 20 प्रतिशत तक पहुंच गया था. कहा कि केंद्र सरकार कोई भेदभाव नहीं कर रही है और प्रदेश सरकार लगातार भेदभाव के आरोप लगा रही है.