CM रावत ने डेंगू रोकने के लिए की कुमायूं मण्डलीय समीक्षा, अब तक 51 डेंगू मरीजों की पुष्टि

प्रदेश के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने नैनीताल क्लब सभागार में डेंगू को रोकने के लिए कुमायूं मण्डलीय समीक्षा बैठक की। बैठक में यह तथ्य सामने आया कि कुमायूं मण्डल में 145 मरीज बुखार के पंजीकृत हुए जिनके परीक्षण उपरान्त 51 मरीजों में डेंगू के लक्ष्ण पाये गये जिनमें जनपद नैनीताल में 28, उधमसिंहनगर 11, अल्मोडा तथा पिथौरागढ में 01-01, अल्मोडा में शून्य डेंगू के मरीज थे। इसके अलावा उत्तरप्रदेश के 10 मरीज थे जिनको डेंगू पाया गया।

मुख्यमंत्री श्री रावत ने मेडिकल काॅलेज के प्राचार्य को निर्देश दिये कि वह सुशीला तिवारी चिकित्सालय में डेंगू के मरीजों को आनलाईन पंजीकरण कराना सुनिश्चित करें तथा डेंगू वार्ड में अतिरिक्त बैडों की व्यवस्था भी करायें। उन्होनें प्रभारी आयुक्त एवं जिलाधिकारी नैनीताल दीपक रावत को निर्देश दिये कि वह जनपद उधमसिंहनगर का भ्रमण कर सरकारी एवं गैर सरकारी ब्लड बैंकों में ब्लड की उपलब्धता एवं भण्डारण की सुनिश्चितता करा लें। इसके साथ ही जनसाधारण में डेंगू के आॅनलाईन पंजीकरण के लिए प्रचार-प्रसार भी करायें।

मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि राजकीय चिकित्सालयोें, बेस चिकित्सालय, तथा सुशीला तिवारी चिकित्सालय में विशेष डेंगू वार्ड स्थापित करते हुए उन्हें क्रियाशील बनाया जाये, ताकि डेंगू से प्रभावित मरीजों को इन विशेष वार्डों में भर्ती कर चिकित्सा सुविधा दी जा सके। उन्होंने जिलाधिकारी से कहा कि चिकित्सालयों प्लेटलैटस सम्बन्धी परीक्षण की व्यवस्था भी बनायी जाये तथा अवाश्यक दवाईयों की भी उपलब्धता करायी जाये। उन्होनें कहा कि आवश्यक मात्रा में प्लेटलेट्स भी भण्डारित किये जाए ताकि आवश्यकता पडने पर डेंगू के मरीजो को प्लेटलैट्स चढाई जा सके।

जिलाधिकारी दीपक रावत ने बताया कि बेस चिकित्सालय, सुशीला तिवारी चिकित्सालय में डेंगू वार्ड बना दिये गये है। चिन्हित मरीजों का इलाज इन्ही वार्डों में किया जा रहा है। डेंगू को लेकर जिला प्रशासन अलर्ट है। जन जागरण एवं सफाई कार्यक्रम निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार संचालित कराये जा रहे हैं।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी ललित मोहन रयाल, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 एलएम उप्रेती, सीएमएस डा0 एचएस खडायत, नगर आयुक्त हल्द्वानी हरबीर सिंह, नगर आयुक्त रूद्रपुर दीप्ति सिंह, उप नगर आयुक्त नीरज जोशी, अधिशासी अधिकारी राजू नबियाल, मनोज दास, रोहिताश शर्मा, अधिशासी अभियन्ता विद्युत मौ0 उस्मान, जल संस्थान जगदीप चैधरी के अलावा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।