पंडितों की कश्मीर में वापसी हो सकती है, लेकिन अलग स्थान पर बसाया जाए : ASKPC

ऑल स्टेट कश्मीरी पंडित कान्फ्रेंस (एएसकेपीसी) ने मंगलवार को कहा कि कश्मीरी पंडितों की वापसी तभी संभव है जब उन्हें घाटी में ‘अलग स्थान’ पर बसाया जाए.

एएसकेपीसी महासचिव टी.के. भट ने कहा, ‘भारत सरकार को यह समझना चाहिए कि कश्मीरी पंडितों की वापसी तभी संभव है जब उन्हें कश्मीर में एक ऐसे स्थान पर बसाया जाए और उनका पुनर्वास किया जाए जहां भारतीय संविधान का मुक्त प्रवाह हो.’

उन्होंने कहा कि हमारे अध्यक्ष रवींद्र रैना ने केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के नेतृत्व वाले सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की और बैठक में इस बिंदु को उठाया. बैठक में एक ज्ञापन भी सौंपा गया, जिस पर 16 कश्मीरी पंडित संगठनों की ओर से हस्ताक्षर किया गया था.

भट ने राज्य विधानसभा और संसद में पंडित समुदाय के लिए आरक्षण क भी मांग की.