भारत-चीन सीमा पर खतरनाक रूप ले रही है यह कृत्रिम झील, पहुंचा सकती है भारी नुकसान

चीन-सीमा से लगे उत्तरकाशी के तिरपानी से एक बड़ी डरावनी खबर है. यहां सोनम नदी और अंगारनाला के संगम पर एक विशाल झील बन रही है. वर्तमान में करीब 80 मीटर लंबी और 70 मीटर चौड़ी झील बन चुकी है. झील करीब ढाई से तीन मीटर गहरी है और दिन-प्रतिदिन इसका जलस्तर बढ़ता जा रहा है.

करीब 14 हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित तिरपानी के पास सोनम नदी और अंगारनाले का संगम है. पिछले दिनों अंगारनाले के उफान पर आने के कारण सैकड़ों टन मलबा और बोल्डर ने सोनम नदी का रास्ता पूरी तरह से बंद कर दिया है. इससे आगे सोनम नदी पूरी तरह ब्लॉक है और उसमें पानी की बूंद तक नहीं है.

करीब एक महीने से यह झील लगातार भरती जा रही है. अगर आने वाले दिनों में लगातार बारिश होती रही तो यह विशाल झील निचले इलाकों और बॉर्डर रोड के लिए खतरनाक साबित हो सकती है. झील का निरीक्षण कर लौटे सीमा सड़क संगठन के अधिकारी इसे लेकर चिंतित हैं.

इसी साल मानसून के शुरुआती दौर में भी अंगार नाला के कारण यहां झील बन गई थी, जो अपने आप टूटी तो उसने बॉर्डर रोड के कई पुलों को भारी नुकसान पहुंचाया. इससे भागीरथी का जलस्तर भी आश्चर्यजनक रूप से बढ़ गया था. ताजा मामले ने सीमा सड़क संगठन सहित प्रशासन की परेशानी बढ़ा दी है.