ओबामा ने की पीएम मोदी की तारीफ, ‘जीएसटी’ को बताया ‘साहसिक नीति’

हांगझोउ।… प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को यहां जी-20 शिखर सम्मेलन से इतर अमेरिका के राष्ट्रपति से बातचीत की.

साथ ही, अमेरिकी राष्ट्रपति ने एक ‘मुश्किल’ वैश्विक परिदृश्य में ‘जीएसटी’ सुधार को ‘साहसिक नीति’ बताते हुए उसकी सराहना की.

मोदी ने पहले ओबामा से संक्षिप्त मुलाकात उस वक्त की, जब वे जी-20 शिखर सम्मेलन में एक सामूहिक तस्वीर खिंचवाने के लिए ‘पोज’ दे रहे थे. शाम में एक उद्घाटन कार्यक्रम के दौरान उन्हें विचारों का आदान-प्रदान करने का एक और अवसर मिला.

जी-20 शिखर सम्मेलन के दौरान ओबामा ने हालिया कर सुधार को लेकर अपने भाषण में मोदी की सराहना की. उन्होंने इसे मुश्किल वैश्विक आर्थिक परिदृश्य में एक ‘साहसिक नीति’ का उदाहरण बताया.

गौरतलब है कि आठ अगस्त को, वस्तु एवं सेवा कर पर संसद ने ऐतिहासिक 122वां संविधान संशोधन विधेयक, 2014 पारित किया था. सरकार ने जीएसटी शुरू करने के लिए एक अप्रैल 2017 की तारीखतय की है जिसे दीर्घकाल के लिए एक सबसे बड़ा कर सुधार माना जाता है.

इससे पहले मोदी ने चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग और आस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री मैलकम टर्नबुल से सम्मेलन से इतर मुलाकात की. वियतनाम से कल यहां पहुंचे मोदी ने सउदी अरब के शहजादा मोहम्मद बिन सलमान से भी मुलाकात की और द्विपक्षीय संबंध मजबूत करने तरीकों पर चर्चा की.

उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री ने समुद्री क्षेत्र, बुनियादी ढांचा, कम लागत वाले आवास जैसे क्षेत्रों में साझेदारी मजबूत करने की मांग की और उर्जा क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने पर चर्चा की. मोदी दिल्ली लौटने से पहले कल अपनी ब्रिटिश समकक्ष टेरेसा मेय और अर्जेंटीना के राष्ट्रपति माउरिसियो मासरी से मुलाकात करेंगे.