चारधाम यात्रा होगी और आसान, केंद्र सरकार ने साढ़े चार सौ करोड़ के दो प्रोजेक्ट लॉन्च किए

चारधाम राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजना में केंद्र सरकार ने साढ़े चार सौ करोड़ रुपये के दो और प्रोजेक्ट लॉन्च कर दिए हैं. इसके तहत 70 किमी राष्ट्रीय राजमार्ग का चौड़ीकरण किया जाएगा. धसकने वाले पहाड़ों के किनारे दीवारें बनाई जाएगीं, जिससे मार्ग बाधित न हो. सड़कों के किनारे ‘व्यू प्वाइंट’ विकसित किए जाएंगे.

इन दोनों प्रोजेक्ट के लिए साढ़े चार सौ करोड़ की धनराशि भी आवंटित कर दी गई है. इन प्रोजेक्ट के साथ डिजिटल इंडिया अभियान को भी शामिल किया गया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सितंबर-अक्टूबर में चारधाम दौरे पर आने की चर्चा है. पीएम मोदी के यहां आने से पहले केंद्रीय सड़क परिवहन और राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्रालय सारी व्यवस्था दुरुस्त कर लेना चाहता है.

केंद्र ने ऋषिकेश से रुद्रप्रयाग तक 70 किमी दूरी के लिए साढ़े चार सौ करोड़ रुपये के दो प्रोजेक्ट लांच किए हैं. इन प्रोजेक्ट से डिजिटल इंडिया को तो जोड़ा ही गया है. इसके साथ ‘व्यू प्वाइंट’ बनाने के लिए भी कहा गया है. साढ़े चार सौ करोड़ बजट से ऋषिकेश से रुद्रप्रयाग तक सड़क का चौड़ीकरण कराया जाएगा. कौड़ियाला, देवप्रयाग, श्रीनगर में ट्रक और बस खड़ी करने के लिए ले बाई, शेड्स बनाए जाएंगे.

यहीं पर ‘व्यू प्वाइंट’ भी बनेंगे. अगर सफर के दौरान किसी की तबीयत खराब हो जाती है तो व्यू प्वाइंट के साथ बनाए जाने वाले रेस्ट हाउस में लोगों के लिए प्राथमिक उपचार की भी व्यवस्था रहेगी.

अभी चारधाम राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजना के तहत साढ़े सात सौ करोड़ से आठ प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है. इन दो प्रोजेक्ट के लांच होने से अब 1200 करोड़ के 10 प्रोजेक्ट शुरू हो गए हैं.

केंद्र सरकार ने राज्य एजेंसी उत्तराखंड पेयजल निगम और ऊर्जा विभाग को भी चारधाम राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजना में काम दिया है.

केंद्र सरकार ने दोनों विभागों को 74 करोड़ का प्रोजेक्ट दिया है. इसके तहत 900 किमी राष्ट्रीय राजमार्ग के किनारे हैंडपंप लगाए जाने हैं. पुराने हैंडपंप बदले जाएंगे. इसके साथ ही बिजली की पुरानी लाइनों और पाइप लाइनों को दुरुस्त किया जाएगा.