अल्मोड़ा : नन्दा देवी मंदिर के दो साल पूरे, रविवार से शुरू होगा भव्य मेला

अल्मोड़ा स्थित नन्दा देवी मंदिर की स्थापना के 200 साल पूरे हो गए हैं. नन्दा देवी मेले को भव्य बनाने के लिए मंदिर समिति और प्रशासन ने तैयारियां पूरी कर ली हैं. अंग्रेजों के शासन काल के दौरान 1816 में तत्कालीन कमीश्नर ट्रेल ने नन्दा देवी की मल्ला महल नन्दा देवी में स्थापना की थी. इस रविवार से शुरू होने वाले नन्दा देवी मेले को भव्य बनाया जा रहा है.

अल्मोड़ा जिले के मल्ला महल में 1670 में कुमांऊ के चंद वंशीय शासक राजा बहादुर चंद ने बधाणगढ़ के किले से नन्दादेवी को स्वर्ण प्रतिमा लाकर स्थापित कर अपनी कुल देवी के रूप में पूजना शुरू किया. इसके बाद 1816 में तत्कालीन कमीश्नर ट्रेल ने नन्दा देवी में मंदिर बनवाकर स्थापना की. तब से हर वर्ष चंद वंशज आकर अपनी कुल देवी के रूप में पूजते हैं. वर्तमान समय में नैनीताल के पूर्व सांसद केसी बाबा यहां परिवार के साथ आकर पूजा अर्चना करते हैं.

इस बार 200 साल पूरे होने पर मंदिर समिति और प्रशासन भव्य रूप से मनाने की तैयारी में है. इस बार कुमाऊनी रंगारंग कार्यक्रमों के साथ कई तरह की प्रतियोगिता करने और स्टाल लगाने की तैयारी चल रही हैं. मुख्यमंत्री हरीश रावत और स्पीकर गोविंद सिंह कुंजवाल सहित कई गणमान्य के यहां पंहुचने का कार्यक्रम भी है.

nanda-devi-temple

अल्मोड़ा जिले में कई ऐतिहासिक धरोहरें हैं, जिन्हें आज संरक्षित करने के साथ प्रचारित करने की आवश्कता है. पर्यटन सर्किल से कुमांऊ को जोड़ने की सरकार की पहल सिर्फ कागजों में ही, नन्दा देवी जैसे पवित्र धार्मिक स्थल का 200 साल पूरे होने पर मेला भी देखने लायक होगा.