उत्तराखंड में डेंगू का प्रकोप, प्लेटलेट्स की कमी पर सीएम हरीश रावत ने किया ट्वीट

अस्थायी राजधानी देहरादून में लगातार डेंगू के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. राज्य में अब तक 600 से अधिक मरीजों को डेंगू होने की पुष्टि हो चुकी है. वहीं देहरादून में अकेले 578 मरीजों को डेंगू होने की पुष्टि हो चुकी है.

डेंगू पर सीएम हरीश रावत ने शनिवार को ट्वीट कर स्वास्थ्य मंत्री सुरेंद्र नेगी को देहरादून के अस्पतालों में नेगेटिव ब्लड ग्रुप के प्लेटलेट्स की कमी को दूर करने के लिए कहा है.

उत्तराखंड में डेंगू के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है. स्वास्थ्य महकमा भले ही डेंगू के कंट्रोल को लेकर योजना बना रहा हो, लेकिन स्वास्थ्य महकमे की सभी योजनाएं डेंगू के डंक के सामने बौनी साबित हो रही हैं. मरीजों का ठीक से इलाज भी नहीं हो पा रहा है.

देहरादून के पथरीबाग इलाके से शुरू हुआ डेंगू का प्रकोप अब शहर के कई इलाकों में फैल चुका है. दून मेडिकल कॉलेज में जहां 16 मरीजों का इलाज चल रहा है, वहीं डेंगू के मरीज विभिन्न अस्पतालों में अपना इलाज करा रहे हैं. अब तक डेंगू से तीन मरीजों की मौत हो चुकी है.

स्वास्थ्य महकमा डेंगू के कंट्रोल को लेकर कई तरह की योजनाओं की बात कर रहा है. जनजागरुकता फैलाने का भी काम चल रहा है. जिस तरह से डेंगू का डंक अपना पैर पसार रहा है. इससे साफ है कि डेंगू के कंट्रोल के लिए तैयार सभी प्लान नाकाम साबित हो रहे हैं.

फिलहाल सीएमओ दून डॉ. वाईएस थपलियाल का कहना है कि लगातार डेंगू के कंट्रोल को लेकर काम किया जा रहा है. साथ ही मरीजों को बेहतर इलाज के लिए व्यवस्था की जा रही है, जिससे मरीजों को किसी तरह की कोई परेशानी का सामना न करना पड़े.