नेहरू, गांधी और वाजपेयी के भी थे दूसरी महिलाओं से संबंध, संदीप कुमार के बचाव में AAP नेता आशुतोष की सफाई

आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता आशुतोष अश्लील सीडी कांड में फंसे दिल्ली सरकार के पूर्व महिला एवं बाल कल्याण मंत्री संदीप कुमार के बचाव में खुले तौर पर सामने आए हैं. पार्टी के मुखिया और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के फैसले से एकदम उलट जाते हुए आशुतोष ने संदीप कुमार का बचाव करते हुए कहा है कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया.

आशुतोष ने अपने ब्लॉग में लिखा है कि यदि संदीप ने किसी अन्य महिला के साथ उसकी रजामंदी से संबंध बनाए हैं तो इसमें गलत क्या है. उन्होंने कोई जोर-जबर्दस्ती नहीं की है. राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, पंडित जवाहर लाल नेहरू और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और जॉर्ज फर्नांडिस के भी सामाजिक और नैतिक दायरे से बाहर जाकर दूसरी महिलाओं से रिश्ते रहे हैं.

आशुतोष ने ब्लॉग में लिखा कि भारतीय इतिहास ऐसे उदाहरणों से भरा पड़ा है जहां हमारे नायकों और नेताओं ने सामाजिक बंधनों से बेपरवाह होकर अपनी इच्छाओं की पूर्ति की. पंडित जवाहर लाल नेहरू के कई सहयोगी महिलाओं से प्रेम संबंधों के किस्से चटखारे लेकर कहे-सुने जाते थे. लेकिन इससे उनका करियर नहीं बर्बाद हुआ. एडविना के साथ उनके रिश्तों की खूब चर्चा हुई. सारी दुनिया इसके बारे में जानती थी. उनका ये लगाव पंडित नेहरू के आखिरी सांस लेने तक बना रहा. क्या वो पाप था?

आशुतोष यहीं नहीं रुके उन्होंने आगे लिखा इतिहास इसका भी गवाह है कि 1910 में कांग्रेस के बड़े नेता, सरला चौधरी से गांधी जी के रिश्तों को लेकर चिंतित थे, सरला रविंद्रनाथ टैगोर की दूर की रिश्तेदार थीं. गांधी जी ने खुद स्वीकार किया था कि सरला उनकी आध्यात्मिक पत्नी थीं.

कस्तूरबा गांधी इससे बेहद दुखी थीं. सी. राजगोपालचारी और दूसरे वरिष्ठ नेताओं को इस मामले में दखल देना पड़ा था. इन लोगों ने गांधी जी को सरला से दूरी बनाने के लिए समझाया-बुझाया. ब्रम्हचर्य पर अपने प्रयोग के लिए गांधी जी बाद के दिनों में अपनी दो भतीजियों के साथ नंगे सोते थे. नेहरू ने उन्हें समझाया कि ऐसा न करें वर्ना देश उनके खिलाफ हो जाएगा, मगर गांधी नहीं माने.

पढ़ें एनडीटीवी की वेबसाइट पर आशुतोष का ब्लॉग…