विधानसभा चुनाव 2017: खटीमा से ताल ठोकेंगे मुख्यमंत्री हरीश रावत! पुष्कर धामी ने दी चुनौती

ऊधमसिंह नगर जिले में सीमांत खटीमा विधानसभा सीट को उत्तराखंड की आखिरी 70वीं विधानसभा सीट भी कहा जाता है. मुख्यमंत्री हरीश रावत के आगामी विधानसभा चुनाव में इस क्षेत्र से चुनाव लड़ने के कयास भी अभी से लगने लगे हैं. बीजेपी विधायक पुष्कर धामी ने मुख्यमंत्री को उनके क्षेत्र से चुनाव लड़ने की चुनौती दे रहे हैं.

खटीमा में अपनी विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटे कांग्रेसी नेता किसी भी कांग्रेसी नेता के लड़ने पर जीत का दंभ भर रहे हैं, साथ ही मुख्यमंत्री के लड़ने से ऊधमसिंह नगर की नौ सीटों पर असर पड़ने की बात कर रहे हों, लेकिन मुख्यमंत्री के पुत्र वीरेंद्र रावत का कहना है कि कार्यकर्ता और जनता भी चाहती है कि मुख्यमंत्री खटीमा क्षेत्र से ही चुनाव लड़ें, जिससे कि सीमांत खटीमा का विकास हो सके.

2012 विधानसभा चुनाव में पहली बार सामान्य हुई खटीमा सीट से जीतकर आए बीजेपी विधायक पुष्कर धामी का कहना है कि अपने दो तीन साल के कार्यकाल में मुख्यमंत्री ने जिस तरह खटीमा क्षेत्र की उपेक्षा की है जनता उन्हें चुनाव में जरूर सबक सिखाएगी.

साल 2017 के विधानसभा चुनाव में अभी कुछ महीने बांकी हैं, लेकिन उत्तराखंड आंदोलन में गोलीकांड का गवाह रह चुके सीमांत खटीमा में जिस तरह मुख्यमंत्री के चुनाव लड़ने की चर्चा है, उससे कांग्रेस नेता सहित बीजेपी नेताओं की बेचैनी बढ़ना भी लाजमी है.