मुझे किसी बड़े पद की कोई लालसा नहीं है, मुख्यमंत्री को भी बता दिया : यशपाल आर्य

उत्तराखंड के सिंचाई मंत्री यशपाल आर्य का कहना है कि सरकार में कार्यकर्ताओं का ध्यान रखा जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि सम्मान मिलने पर कार्यकर्ता चुनाव में जी जान से काम करेंगे. आर्य ने कहा कि उन्हें बड़े पद की कोई लालसा नहीं है, सीएम हरीश रावत को भी वे यह बता चुके हैं.

हल्द्वानी में मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा है कि सरकार में, संगठन से जुड़े कार्यकर्ताओं को सम्मान दिए जाने में वरिष्ठता, निष्ठा, ईमानदारी और जाति धर्म सहित सभी समीकरणों को ध्यान में रखा जाए. इससे चुनावी समय में कार्यकर्ता पूरी लगन और मेहनत से पार्टी हित में काम कर सकें.

वहीं मुख्यमंत्री हरीश रावत के सिंचाई मंत्री यशपाल आर्य को आपदा प्रबंधन मंत्रालय दिए जाने पर यशपाल आर्य ने सफाई दी है. हल्द्वानी में मौजूद यशपाल आर्य ने कहा है कि मुख्यमंत्री हरीश रावत इस बात के साक्षी हैं कि मैंने उनसे अनुरोध किया था कि मुझे बड़े पद और अतिरिक्त विभाग की कोई लालसा नही है.

आर्य ने कहा कि मेरे पास पर्याप्त विभाग हैं, जिनमें ईमानदारी से काम करना ही मेरा धर्म है. सिंचाई मंत्री ने कहा है कि मैंने मुख्यमंत्री से यहां तक कहा कि आपदा सहित अन्य विभाग किसी अन्य मंत्री को दे दे, जिसको लेकर न तो मेरी नाराजगी है और न ही कोई मांग है.

मुख्यमंत्री हरीश रावत ने भी उनकी इस बात को स्वीकार कर लिया है. हरीश रावत कैबिनेट में सिंचाई मंत्री यशपाल आर्य ने कहा कि गाहे-बगाहे मेरे राजनीतिक मित्र और सहयोगी मुझ पर इस तरह के आरोप लगाते रहते हैं, जिसकी मुझे पीड़ा और तकलीफ भी है.