देश की प्रगति के लिए सभी को सामूहिक प्रयास करने की जरूरत

मुख्यमंत्री हरीश रावत ने राजपूत पंचायती धर्मशाला कनखल, हरिद्वार में अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा द्वारा आयोजित कार्यक्रम में भाग लिया. इस मौके पर उन्होंने कहा, ‘आज हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए कि समाज एवं देश के लिए चितंन करें. देश निरन्तर प्रगति की ओर अग्रसर हो इसके लिए सभी को सामूहिक प्रयास करने आवश्यक है.’

उन्होंने कहा कि आज हमें सभी जाति एवं धर्म के लोगों को एक साथ लेकर चलना होगा. तभी समाज की उत्तरोत्तर वृद्धि सम्भव है. हरीश रावत ने कहा कि आज यूरोपीय देश शान्ति और सौहार्द की बात कर रहे हैं. किसी भी देश एवं समाज का विकास शान्ति और सौहार्द की भावना से ही हो सकता है.

उन्होंने कहा कि हमें जात-पात एवं धर्म से ऊपर उठकर एकीकृत होकर कार्य करना होगा. आज तकनीकि का विकास बहुत तेजी से हो रहा है. आवश्यकता है कि हम भी आधुनिक तकनीकी विकास के साथ-साथ आगे बढ़े.

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज हमें अपनी कमजोरियों पर चिन्तन करते हुए उनका निवारण करना होगा तथा आने वाली पीढ़ी के लिए उचित मार्गदर्शन का कार्य करना होगा. उन्होंने कहा कि जब हम राष्ट्र की वीरता, स्वाभिमान और गौरव की बात करें तो महाराणा प्रताप का नाम उभरकर आता है.

गोर्खाली हरितालिका को केलेंडर में जोड़ा जाएगा
मुख्यमंत्री ने कहा है कि गोर्खाली हरितालिका तीज उत्सव को राज्य के केलेंडर में शामिल करते हुए इससे राज्य को भी जोड़ा जाएगा. रविवार को गढ़ी कैंट स्थित महेंद्र ग्राउन्ड में आयोजित गोर्खाली हरितालिका तीज उत्सव मेला 2016 में मुख्यमंत्री ने अपने सम्बोधन में कहा कि देश व भारतीय समाज को गोर्खाली समाज से महिला का सम्मान करना सीखना चाहिए. गोर्खाली समाज में बेटियों को सर्वोच्च सम्मान दिया जाता है.