बुरे वक्त में साथ देने वाले भीमलाल आर्य भी हरीश रावत पर बरसे, आज बीजापुर गेस्ट हाउस पर देंगे धरना

बीजेपी से निष्कासित एवं पूर्व विधायक भीमलाल आर्य ने भी अब मुख्यमंत्री हरीश रावत पर फिर हमला बोला है. उन्होंने कहा कि लालबत्ती नहीं सीएम ने उनके क्षेत्र को पिछड़ा घोषित करने का वादा किया था, लेकिन अब वे अपने वादे से पलट रहे हैं. वह अपनी मांग को लेकर शनिवार को बीजापुर गेस्ट हाउस पर धरना देंगे.

भीमलाल शुक्रवार को जौरासी जबरदस्तपुर गांव में एक कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे. उन्होंने कहा कि उन्हें मुख्यमंत्री हरीश रावत ने सरकार गिरने के दौरान वादा किया था कि वह उनके क्षेत्र को पिछड़ा घोषित करेंगे. जिससे यहां का संपूर्ण विकास हो सके, लेकिन सरकार बनने के बाद मुख्यमंत्री अपने इस वादे को भूल गए और वादा पूरा नहीं किया.

आर्य ने कहा कि उन्हें लालबत्ती देकर राज्य अवस्थापन एवं औद्योगिक विकास परिषद का अध्यक्ष बनाया गया है, लेकिन आज तक उन्होंने इस पद का लाभ ही नहीं लिया है. उनके लिए पहले उनका क्षेत्र है, जिसके लिए वह शनिवार को मुख्यमंत्री के बीजापुर गेस्ट हाउस में धरना देंगे.

आर्य केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर भी हमला बोला और कहा मोदी सरकार बनने में अल्पसंख्यकों का विशेष योगदान रहा था, लेकिन केंद्र सरकार अब अल्पसंख्यकों को भूल गई है. जिससे अल्पसंख्यक विभिन्न योजनाओं से महरूम हो गए हैं. बीजेपी की तानाशाही को देखते हुए उन्होंने पार्टी से इस्तीफा दे दिया था.

उन्होंने क्षेत्रवासियों को भरोसा दिलाया कि नष्ट फसलों का मुख्यमंत्री से बातकर मुआवजा दिलाया जाएगा. इससे पूर्व आर्य ने गांव में स्थित मजार पर मत्था भी टेका.