डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष की नरसिंह मामले में सीबीआई जांच की मांग

भारतीय पहलवान नरसिंह यादव के डोपिंग मामले पर भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) के अध्यक्ष ब्रिजभूषण शरण सिंह ने केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की जांच की मांग की है.

विश्व की सबसे बड़ी खेल अदालत-कोर्ट फॉर आर्ब्रिटेशन फॉर स्पोर्ट (सीएएस) ने गुरुवार को लम्बी सुनवाई के बाद भारतीय पहलवान नरसिंह यादव को डोपिंग मामले में क्लीन चिट दिए जाने के खिलाफ दायर विश्व डोपिंग निरोधी एजेंसी (वाडा) की अपील को स्वीकार कर लिया.

वाडा ने अपनी अपील में नरसिंह को राष्ट्रीय डोपिंग निरोधी एजेंसी (नाडा) द्वारा क्लीन चिट दिए जाने को गलत करार दिया था और उन पर प्रतिबंधित दवाओं के सेवन को लेकर चार साल का प्रतिबंध लगाने की मांग की थी. अब जबकि सीएएस ने वाडा की अपील स्वीकार कर ली है, नरसिंह का भविष्य अंधकारमय नजर आ रहा है. वह अब रियो ओलम्पिक में हिस्सा नहीं ले पाएंगे.

ब्रिजभूषण ने कहा, ‘यह हादसा भविष्य में किसी भी खिलाड़ी के साथ नहीं होना चाहिए. मैं इस पूरे मुद्दे में सीबीआई जांच की मांग करता हूं, ताकि भविष्य में यह मामला न दोहराया जाए.’

उन्होंने कहा, ‘मैं नरसिंह के लिए काफी निराश महसूस कर रहा हूं. ऐसा हादसा किसी भी खिलाड़ी के साथ न हो.’

सीएएस के एडहॉक डिविजन ने गुरुवार को यहां वाडा की अपील पर सुनवाई के लिए बैठक की और नरसिंह पर चार साल का प्रतिबंध लगाने का फैसला किया. नाडा ने बीते महीने भारतीय पहलवान को प्रतिबंधित दवाओं के सेवन के आरोपों से मुक्त किया था और इसके बाद अंतर्राष्ट्रीय कुश्ती महासंघ ने नरसिंह को ओलम्पिक में हिस्सा लेने की अनुमति प्रदान की थी.