मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने आगामी विधानसभा चुनावों के लिए जारी किए दिशा निर्देश

निकट भविष्य में उत्तराखंड में होने वाले विधानसभा चुनाव को निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने के लिए राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा तैयारियां शुरू कर दी गई हैं. इस सबंध में मुख्य निर्वाचन अधिकारी राधा रतूड़ी ने वीडियो कान्फ्रेसिंग के जरिए प्रदेशभर के जिला निर्वाचन अधिकारियों एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों से निर्वाचन के संबंध में जानकारियां जुटाई और आवश्यक दिशा निर्देश दिए.

रतूड़ी ने कहा कि आयोग का उद्देश्य है कि शतप्रतिशत लोग मतदान प्रक्रिया में भाग लेकर अपने मताधिकार का प्रयोग करें इसके लिए अभी से हर जिले में तैयारियां पूरी कर ली जाएं. भयमुक्त वातावरण बनाने के लिए संवेदनशील तथा अतिसंवेदनशील क्षेत्रों एवं बूथों का सर्वे कर कार्रवाई की जाए, ताकि मतदाता भयमुक्त होकर अपना मतदान करें.

उन्होंने कहा कि मतदान के लिए आयोग के निर्देशानुसार हर मतदाता का नाम फोटो पहचान मतदाता निर्वाचन सूची में दर्ज हो.

 

नैनीताल जिला निर्वाचन अधिकारी दीपक रावत वीडियो कान्फ्रेसिंग में भाग लेते हुए
नैनीताल जिला निर्वाचन अधिकारी दीपक रावत वीडियो कान्फ्रेसिंग में भाग लेते हुए

इसके साथ ही जिन मतदाताओं का त्रुटिपूर्ण अंकन है उसे समय रहते ठीक कर लिया जाए. उन्होंने बताया कि 01 अक्टूबर से प्रदेश में मतदाता सूचियों का पुनरीक्षण कार्य प्रारम्भ किया जाएगा. इसका प्रचार प्रसार करते हुए नए मतदाताओं को सूची में शामिल करने के लिए क्षेत्र के सभी बीएलओ को सक्रिय कर दिया जाए.

उन्होंने बताया कि राज्य में 509 नए मतदान केन्द्र बनाए जाने हैं, जिसके लिए आयोग स्तर पर कार्रवाई गतिमान है. नए मतदान केन्द्रों की सूची जल्दी ही जिलों को अनुमोदित कर उपलब्ध करा दी जाएगी. उन्होंने कहा कि जो नए मतदान केन्द्र बनने हैं उनपर बीएलओ की तैनाती सुनिश्चित कर ली जाए.

रतूड़ी ने पुलिस महकमे के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे शांतिपूर्ण निर्वाचन प्रक्रिया को संपन्न करने के लिए आपराधिक तत्वों पर अभी से नकेल कसें तथा पुलिस गश्त बढ़ाए तथा सत्यापन पर विशेष ध्यान देते हुए पड़ोसी राज्य के पुलिस अधिकारियों से जिनकी सीमाएं उत्तराखंड से लगती हैं से समन्वय बनाए रखें.

नैनीताल जिला निर्वाचन अधिकारी दीपक रावत ने बताया कि जिले में मतदाता सूचियों का पुनरीक्षण एवं संशोधन का कार्य चल रहा है. डाटा एन्ट्री का कार्य किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि जिले के 18 मतदान केन्द्रों पर शौचालय की व्यवस्था नहीं थी, ऐसे मतदान केन्द्रों पर मनरेगा से शौचालयों का निर्माण कराया जा रहा है.

वीडियो कान्फ्रेसिंग में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक स्वीटी अग्रवाल, उप जिला निर्वाचन अधिकारी आरडी पालीवाल, अपर पुलिस अधीक्षक हरीश चन्द्र सती, के अलावा पुलिस अधिकारी लोकजीत सिंह, सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी प्रकाश चन्द्र त्रिपाठी, जिला सूचना विज्ञान अधिकारी राजीव जोशी आदि उपस्थित थे.