रियो ओलंपिक : बैडमिंटन खिलाड़ी श्रीकांत नहीं कर सके उलटफेर, ओलंपिक से बाहर

रियो डी जनेरियो।… भारत के अग्रणी पुरुष किदाम् बैडमिंटन खिलाड़ीबी श्रीकांत कड़े संघर्ष और जुझारू खेल के प्रदर्शन के बावजूद भारत की पदक की उम्मीदों को जिंदा नहीं रख सके. ब्राजील की मेजबानी में खेले जा रहे ओलंपिक खेलों में बुधवार को वह पुरुष एकल वर्ग स्पर्धा के क्वार्टर फाइनल में हारकर पदक की दौड़ से बाहर हो गए.

रियोसेंटर पवेलियन-4 में खेले गए मुकाबले में पहली बार ओलंपिक में हिस्सा ले रहे श्रीकांत को दो बार के मौजूदा विजेता चीनी दिग्गज लीन डैन ने कड़े मुकाबले में 21-6, 11-21, 21-18 से मात देते हुए सेमीफाइनल में जगह बनाई.

तीसरी विश्व वरीयता प्राप्त डैन ने पहला गेम महज 16 मिनट में जीता. इस गेम में भारतीय खिलाड़ी के पास डैन की प्लेसमैंट और शॉट का जवाब नहीं था.

एक गेम से पिछड़ने के बाद राष्ट्रीय कोच पुलेला गोपीचंद के मार्गदर्शन में अभ्यास कर रहे श्रीकांत ने शानदार वापसी की. 11वीं विश्व वरीयता श्रीकांत ने अच्छी शुरुआत की और 3-0 से बढ़त ले ली. श्रीकांत ने पहले गेम की गलतियों को सुधारा और चीन के खिलाड़ी को अपने शानदार खेल से स्तब्ध कर दिया.

श्रीकांत ने बढ़त कायम रखते हुए स्कोर 9-5 कर लिया. डैन इस गेम में एक भी बार बराबरी नहीं कर सके और न ही अंकों के अंतर को कम कर सके. श्रीकांत ने अंकों के अंतर को बढ़ाते हुए 21-11 से गेम अपने नाम कर 1-1 से बराबरी कर ली. यह गेम 19 मिनट तक चला.

जिस प्लेसमेंट से डैन ने पहला गेम जीता था उसी के बल पर श्रीकांत ने इस मैच में उन्हें हराया. तीसरा गेम दोनों के उच्च स्तर के खेल का बेहतरीन प्रमाण था. शानदार बैडमिंटन का मुजाहिरा पेश करते हुए दोनों खिलाड़ियों ने पूरे मैच के दौरान दर्शकों की सांसें अटकाई रहीं.

पांच बार के विश्व चैम्पियन डैन ने लगातार दो अंक हासिल करते हुए अच्छी शुरुआत की, लेकिन भारतीय खिलाड़ी ने तुरंत 6-6 से बराबरी कर ली और फिर 9-8 से पहली बार गेम में डैन से आगे निकल गए.

श्रीकांत ने इस बढ़त को कायम रखते हुए स्कोर 13-10 कर चीन को परेशानी में डाल दिया. लेकिन विश्व के दिग्गज खिलाड़ी डैन ने 14-14 से बराबरी करने के बाद 17-15 से आगे निकल गए.

श्रीकांत ने काफी संघर्ष किया लेकिन अंतत: वह 21-18 से गेम के साथ-साथ मैच हार ओलंपिक से बाहर हो गए. डैन सेमीफाइनल में शुक्रवार को मलेशिया के ली चोंग वेई से भिड़ेंगे.