कश्मीर में अशांति के पीछे पाकिस्तान, पड़ोसी देश से बात होगी तो PoK पर : राजनाथ सिंह

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार को कहा कि कश्मीर में मौजूदा अशांति के पीछे पाकिस्तान का हाथ है. राज्यसभा में कश्मीर के हालात पर चर्चा के बाद गृहमंत्री ने कहा, ‘कश्मीर में जो कुछ भी हो रहा है, उसमें पाकिस्तान का हाथ है.’

उन्होंने कहा, ‘बीते 23 व 24 जुलाई को जब मैं श्रीनगर व अनंतनाग के दौरे पर था, तब मैंने विभिन्न क्षेत्रों के लगभग 30 प्रतिनिधिमंडलों से मुलाकात की और कश्मीर मुद्दे पर चर्चा की.’

आंदोलनकारी भीड़ से निपटने के लिए पैलेट गन के इस्तेमाल को लेकर चिंताओं पर सदन में गृहमंत्री ने कहा कि सुरक्षाबलों से बल प्रयोग के दौरान अधिकतम संयम बरतने को कहा गया है.

उन्होंने यह भी कहा कि अगर पाकिस्तान के साथ वार्ता होगी, तो वह पाकिस्तान के कब्जे वाली कश्मीर को लेकर होगी. उन्होंने कहा, ‘सभी संबंधित पक्षों से बातचीत होगी.’

उन्होंने सदन को आश्वस्त कराया कि घाटी में किसी भी चीज की कमी न हो, इसके लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं. गृहमंत्री ने कहा कि कर्फ्यू लगने के बाद से लेकर अब तक घाटी में 5,600 ट्रक पहुंच चुके हैं.

उन्होंने यह भी कहा कि कश्मीर घाटी में अलगाववादी बंद का आह्वान कर रहे हैं. राजनाथ ने कहा, ‘मैं यह नहीं कह रहा हूं कि कश्मीर में रहने वाले लोग सामान्य जीवन जी रहे हैं, लेकिन राज्य सरकार आधारभूत सुविधाएं मुहैया कराने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है.’ राजनाथ ने यह भी कहा कि घायलों को चिकित्सा सुविधाएं मुहैया कराई जा रही हैं.

कुख्यात आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहानी वानी की आठ जुलाई को हुई मौत के बाद कश्मीर बीते एक महीने से अधिक समय से हिंसा की चपेट में है. इस दौरान, प्रदर्शनकारियों व सुरक्षाबलों के बीच झड़प में 55 लोगों की मौत हो चुकी हैं.