IndvsWI तीसरा टेस्ट मैच : सीरीज अपने नाम करने उतरेगी टीम इंडिया

जमैका में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच के ड्रॉ हो जाने के बाद भारतीय टीम मंगलवार से सेंट लूसिया में शुरू हो रहे तीसरे टेस्ट मैच में वापसी कर जीत के साथ सीरीज अपने नाम करने उतरेगी. मेजबान वेस्टइंडीज ने दूसरे टेस्ट मैच के अंतिम दिन कड़ा संघर्ष कर भारत के जीत के सपने को पूरा नहीं होने दिया था और मैच ड्रॉ करा लिया था.

पहले टेस्ट में पारी और 92 रनों से जीत दर्ज करने के बाद भारतीय टीम दूसरे टेस्ट में भी जीत की प्रबल दावेदार मानी जा रही थी, लेकिन अंतिम दिन रोस्टन चेस की 239 गेंदों में 137 रनों की पारी की बदौलत मेजबान टीम मैच ड्रॉ कराने में कामयाब रही.

वाबजूद इसके भारतीय टीम मेजबानों से बेहतर नजर आ रही है. डैरेन सैमी क्रिकेट स्टेडियम में खेले जाने वाले तीसरे टेस्ट में वह सीरीज अपने नाम कर सकती है. भारत इससे पहले इस मैदान पर 2006 में खेला था. यह मैच ड्रॉ रहा था.

भारतीय बल्लेबाजों ने दोनों टेस्ट मैचों में शानदार प्रदर्शन किया है और बड़े स्कोर तक टीम को पहुंचाया. इसलिए टीम के मुख्य कोच अनिल कुंबले और कप्तान विराट कोहली के लिए बल्लेबाजी चिंता का विषय नहीं होगी.

गेंदबाजी में टीम प्रबंधन जरूर कुछ बदलाव कर सकता है क्योंकि दूसरे टेस्ट मैच में भारतीय गेंदबाज अंतिम दिन आखिरी के छह विकेट हासिल नहीं कर सके थे. लोकेश राहुल, विराट कोहली और अजिंक्य रहाणे इस समय शानदार फॉर्म में हैं और लगातार रन बना रहे हैं.

गेंदबाजी में ईशांत शर्मा, मोहम्मद समी और उमेश यादव ने दोनों मैचों में अच्छी गेंदबाजी की है. ऐसा नहीं लगता कि टीम प्रबंधन इन तीनों में से किसी को बाहर रखेगा.

हालांकि स्पिन के क्षेत्र में जरूर बदलाव देखने को मिल सकता है. लेग स्पिनर अमित मिश्रा की जगह बाएं हाथ के स्पिनर रविन्द्र जडेजा को टीम में जगह मिल सकती है. रविचन्द्रन अश्विन की जगह टीम में पक्की है. वह टीम के मुख्य गेंदबाज हैं और गेंदबाजी आक्रमण की जिम्मेदारी उनके कंधों पर रहेगी.

वहीं मेजबान टीम की कोशिश जीत हासिल कर सीरीज में बराबरी करने की होगी. हालांकि उनके लिए यह काम कितना मुश्किल है वह अच्छे से जानते हैं. बल्लेबाजी में वेस्टइंडीज वरिष्ठ खिलाड़ी मार्लन सैमुएल्स पर निर्भर करेगी.

हालांकि दूसरे टेस्ट मैच के शतकवीर चेस और जर्मन ब्लैकवुड ने जिस तरह की बल्लेबाजी का प्रदर्शन किया था, उसको देखते हुए टीम चाहेगी कि यह दोनों एक बार फिर अपनी जिम्मेदारी निभाएं.

सलामी बल्लेबाज राजेंद्र चद्रिका की जगह टीम में शामिल किए गए शाई होप के अंतिम एकादश में चुने जाने की पूरी संभावना है. कोच फिल सिमंस और कप्तान जेसन होल्डर को उनसे अच्छी शुरुआत की उम्मीद होगी.

गेंदबाजी की जिम्मेदारी कप्तान के अलावा कार्लोस ब्राथवेट, शेनन गाब्रिएल के कंधों पर होगी. लेग स्पिनर देवेन्द्र बिशू टीम में अकेले स्पिनर हैं.

संभावित टीमें :
भारत : विराट कोहली (कप्तान), अजिंक्य रहाणे (उपकप्तान), मुरली विजय, शिखर धवन, लोकेश राहुल, चेतेश्वर पुजारा, रोहित शर्मा, रिद्धिमान साहा, रविचंद्रन अश्विन, अमित मिश्रा, रवींद्र जडेजा, ईशांत शर्मा, मोहम्मद समी, भुवनेश्वर कुमार, उमेश यादव, शार्दुल ठाकुर, स्टुअर्ट बिन्नी.

वेस्ट इंडीज टीम : जेसन होल्डर (कप्तान), क्रेग ब्रैथवेट (उपकप्तान), देवेंद्र बिशू, जर्मन ब्लैकवुड, कार्लोस ब्राथवेट, डारेन ब्रावो, शाई होप, रॉस्टन चेस, शेन डॉरिक, शेनन गाब्रिएल, लियोन जॉनसन और मार्लन सैमुअल्स, अलजारी जोसेफ.