शंकराचार्य के निशाने पर पीएम मोदी, ‘दलितों पर मोदी का बयान अपनी असफलताओं को छिपाने का हथियार’

अपनी बयानबाजी के कारण अक्सर विवादों में रहने वाले जगतगुरु शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती ने हरिद्वार में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अनर्गल बयानबाजी का आरोप लगाते हुए उन्हें खुली चुनौती भी दी है.

स्वरूपानंद ने कहा है कि गौरक्षा को लेकर मोदी अनर्गल बयानबाज़ी कर रहे हैं. उन्होंने कहा, अगर बीजेपी के एजेंडे में गौरक्षा नहीं थी और सिर्फ विकास था तो केवल विकास में मुद्दे पर चुनाव लड़कर और जीतकर दिखाएं मोदी.

स्वरूपानंद ने कहा कि चुनाव से पहले गौहत्या की बात पर मोदी अपना दिल जलने की बात करते थे. चुनाव जीतने के बाद से आजतक गौहत्या पर प्रतिबन्ध नहीं लगा पाए हैं. शंकराचार्य ने कहा कि पीएम मोदी सिर्फ बयानबाजी कर रहे हैं. गौहत्या पर प्रतिबंध लगाने को लेकर मादी गंभीर नहीं दिखाई देते.

दलित उत्पीड़न पर बोलते हुए शंकराचार्य ने कहा कि जनता को कानून अपने हाथ में नहीं लेना चाहिए. यही नहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दलितों को लेकर दिए गए बयान को शंकराचार्य ने उनकी असफलताओं को छुपाने को लेकर दिया गया बयान बताया है.

शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती अपने बयानों को लेकर अकसर विवादों में रहते हैं. पिछले दिनों, केदारनाथ आपदा को लेकर दिए एक बयान के कारण भी शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती खासे चर्चा में रहे थे. साईं बाबा को लेकर भी उनकी बयानबाजी सुर्खियां बनती रही है.